School
Representative Picture

    मुंबई. 1 से 10 मार्च के बीच हुए आउट स्कूल सर्वे (Out School Survey) में मुंबई (Mumbai) के 10,821 बच्चों की पढ़ाई कोरोना (Corona) के कारण छूटने की बात सामने आई है। इसमें 5,643 लड़के और 5,174 लड़कियां है जो शिक्षा (Education) से वंचित पाए गए हैं। लॉकडाउन (Lockdown) के कारण कई अभिभावकों की नौकरी चली गई है। तो कई परिवार गांव चले गए हैं इसका परिणाम यह हुआ है कि हजारों विद्यार्थी शिक्षा के प्रवाह से बाहर हो गए हैं। 

    कई बच्चों के पास इंटरनेट, मोबाइल की सुविधा न होने के कारण ऑनलाइन क्लास भी नहीं जॉइन कर पा रहे हैं। बता दें कि मनपा और मुंबई शिक्षण उपसंचालक कार्यालय ने आउट ऑफ स्कूल बच्चों को खोजने की मुहिम शुरू की जिसके तहत 10 हजार 821 बच्चे शिक्षा से वंचित मिले। 

    मनपा में खोजे 10,177

    मनपा ने अपने सर्वे में 10,177 बच्चों को खोजा, जिसमें से 5275 लड़के और 4902 लड़कियों का सामवेश है। हैरान करने वाली बात यह भी है कि 182 बच्चे ऐसे भी मिले जो कभी स्कूल नहीं गए हैं। कोरोना के कारण अनियमित उपस्थिति जानेवाले कुल 9,995 विद्यार्थी हैं।

    उपसंचालक कार्यलय ने ढूंढे 644 बच्चे

    मुंबई शिक्षण उपसंचालक कार्यालय ने खोज मुहिम के तहत 644 बच्चों को ढूंढ निकाला। इसमें 235 विद्यार्थी ऐसे भी है जो कभी स्कूल नहीं गए हैं।

    12 बच्चे काम करते पाए गए

    आउट स्कूल सर्वे में 12 बच्चे ऐसे भी मिले जिनके कंधों पर बैग की बोझ के बजाए काम का बोझ देखने को मिला। अन्य विभिन्न कारण के चलते शिक्षा न प्राप्त कर पा रहे बच्चों की संख्या 693 है।