राजस्थान कांग्रेस संकट का मुंबई कनेक्शन

  • खेल में मुंबई का एक हाई प्रोफाइल नेता शामिल 
  • हाईकमान को दी गई जानकारी 

मुंबई. राजस्थान में कांग्रेस सरकार के संकट का मुंबई कनेक्शन भी है. सूत्रों के मुताबिक इस खेल में मुंबई के एक हाई प्रोफाइल नेता के शामिल होने की रिपोर्ट है. इस बारे में दिल्ली में हाईकमान को भी जानकारी दी गई है. राजस्थान में मुख्यमंत्री अशोक गहलोत को हटाने के लिए पिछले 6 महीने से तैयारी की जा रही थी. 

इस खेल में मुख्य रूप से उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट शामिल थे, लेकिन उनके पीछे कई नेता उनका मार्गदर्शन कर रहे थे. इन नेताओं में कांग्रेस छोड़ कर बीजेपी में शामिल हुए ज्योतिरादित्य सिंधिया के अलावा मुंबई के भी एक कद्दावर नेता का रोल है. कहा जा रहा है कि पायलट ने अपने इस प्लान को सफल बनाने के लिए मुंबई के इस कांग्रेसी नेता से मदद मांगी थी, जिसमें वे अहम रोल निभा रहे थे.  

गहलोत ने की पायलट की जासूसी 

सूत्रों के मुताबिक पिछले 6 महीने से राजस्थान में सरकार के खिलाफ चल रहे षड़यंत्र पर मुख्यमंत्री अशोक गहलोत की करीबी नजर थी. उन्होंने अपने जासूस को उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट और उनके करीबी नेताओं के पीछे लगा दिया था. पायलट के पल –पल के प्लान की पूरी  जानकारी गहलोत को पहले से मिल गई थी. उन्होंने पायलट समेत उनके अन्य करीबी नेताओं का कच्चा चिट्ठा सबूत समेत कांग्रेस हाईकमान को सौंप दिया है. गहलोत ने पायलट के मास्टर प्लान में मुंबई के भी एक बड़े नेता के शामिल होने की जानकारी कांग्रेस हाईकमान को दी है.ऐसे में माना जा रहा है कि पार्टी  हाईकमान इस बारे में जल्द ही कोई बड़ा फैसला ले सकता है.     

पार्टी में भाव नहीं मिलने से नाराज 

सूत्रों के मुताबिक मुंबई के बड़े बिजनेस घरानों से संबंध रखने वाले कांग्रेस का यह सीनियर नेता इन दिनों पार्टी के अंदर भाव नहीं मिलने से नाराज चल रहा है. इस नेता को पार्टी ने अभी तक कोई बड़ी जिम्मेदारी नहीं दी है और न ही इनके लिए दिल्ली जाने का कोई रास्ता बनाया है. ऐसे में अब कांग्रेस के अंदर  गुटबाजी चरम पर है और जिसका नजारा राजस्थान में साफ तौर से देखने को मिल रहा है.