दहिसर, बोरिवली, कांदिवली, मालाड, मुलुंड, भांडुप में कोरोना रोकने मुंबई मनपा का ‘मिशन जीरो’

मरीजों की पहचान एवं इलाज के लिए 50 मोबाइल डिस्पेंसरी

मुंबई. कोविड-19 वायरस के खिलाफ अमल में लायी जा रही मुंबई मनपा की उपाय योजनाओं की वजह से मुंबई में मरीजों की संख्या दो गुना होने की कालावधि बढ़ कर 36 दिन हो गयी है.एशिया की सबसे बड़ी झोपड़पट्टी धारावी में कोरोना कंट्रोल के लिए केंद्र सरकार ने भी पीठ थपथपाई है. अब उत्तर मुंबई एवं पूर्वोत्तर मुंबई के दहिसर, बोरिवली, कांदिवली, मालाड, मुलुंड, भांडुप में तेजी से बढ़ रहे कोरोना के मामलों को रोकने के लिए मनपा की तरफ से ‘ मिशन जीरो’ शुरु किया गया है. जिसकी घोषणा सोमवार को मनपा आयुक्त इकबाल सिंह चहल ने अंधेरी के शहाजी राजे भोसले स्पोर्ट्स कांप्लेक्स में की. 

इस महत्वपूर्ण परियोजना के तहत 50 मोबाइल डिस्पेंसरी विभिन्न इलाकों में जाएगी जहां प्राथमिक जांच कर मरीज़ो की पहचान की जाएगी और उनके इलाज की व्यवस्था की जाएगी. दो से तीन सप्ताह तक चलने वाली इस मुहिम की शुरुआत के समय मनपा आयुक्त इकबाल सिंह चहल के अलावा अतिरिक्त आयुक्त  आश्विनी भिडे, भारतीय जैनसंगठन के  शांतिलाल मुथा, एमसीएचआई- क्रेडाई संगठन के अध्यक्ष  नयन शाह,पूर्व अध्यक्ष धर्मेश जैन,  उपाध्यक्ष नैनेष शाह सहित अन्य लोग मौजूद थे.

नागरिकों का सहयोग आवश्यक 

राज्य के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने लॉकडाउन की कालावधि को चरणबद्ध तरीके से समाप्त करते हुए  पुनश्च हरिओम (मिशन बिगिन अगेन) की घोषणा की है. लॉकडाउन में ढील देने से कोरोना वायरस का संक्रमण बढ़ने से इंकार नहीं किया जा सकता है. कोरोना की रोकथाम को लेकर मनपा के प्रयास में जनप्रतिनिधियों, विभिन्न  सामाजिक सेवाभावी संस्थाओं एवं आम नागरिकों का सहयोग आवश्यक है. 

विशेष उपाय योजना शुरु की जा रही 

मनपा की तरफ से कहा गया है कि मरीजों की संख्या दो गुना होने की कालावधि 36 दिन करने में सफलता मिली है अब इसे बढ़ा कर 50 दिन करना है.  लेकिन मनपा के पी/उत्तर, आर/मध्य, आर/उत्तर,आर/दक्षिण, एस एवं टी वार्ड सहित कुछ अन्य इलाकों में मरीजों की संख्या दो गुना होने में मुंबई के दूसरे इलाकों की अपेक्षा कम समय लग रहा है.जिसको देखते हुए वार्ड स्तर पर विशेष उपाय योजना शुरु की जा रही है.