Kirit Somaiya

मुंबई. बीजेपी नेता और पूर्व सासंद किरीट सोमैया (Kirit Somaiya) ने धनंजय मुंडे पर निशाना साधा है। किरीट सोमैया ने महाराष्ट्र के सामाजिक और न्याय मंत्री (Maharashtra Social and Justice Minister) धनंजय मुंडे (Dhananjay Munde) पर तंज कसते हुए कहा है कि धनंजय मुंडे पर जो आरोप लगे हैं उससे महाराष्ट्र की संस्कृति पर धक्का पहुंचा है।

किरीट सोमैया ने कहा कि जब तक मौजूदा स्थिति स्पष्ट नहीं हो जाती तब तक धनंजय मुंडे को महाराष्ट्र मंत्रिमंडल से बाहर रहना चाहिए।

चुनावी एफिडेविट की जांच हो

इस बीच, किरीट सोमैया ने एक और विडीयो जारी कर कहा है कि महाराष्ट्र के मंत्री धनंजय मुंडे ने यह स्वयं कबुल  किया है कि उनकी दो पत्नियां हैं और कई बच्चे हैं और उनके नाम पर कई प्रॉपर्टीज खरीदी हुई है और तीसरी महिला के साथ संबंध हैं। सोमैया ने कहा है कि मैंने चुनाव आयोग से शिकायत की है कि यह सब चीजें जो चुनावी एफिडेविट में दिखाई नहीं गई है इसकी जांच होनी चाहिए।

 धनंजय मुंडे अपने पद से इस्तीफा दें

इधर, महाराष्ट्र भाजपा (BJP) उपाध्यक्ष चित्रा वाघ (Chitra Wagh) ने कहा है कि महाराष्ट्र के मंत्री धनंजय मुंडे पर रेप का आरोप गंभीर और धक्कादायक मामला है। चित्रा वाघ ने कहा कि मैं पुलिस से मांग करती हूं कि इस मामले में राजनीतिक दबाव में न आकर इन आरोपों की जांच की जाए और जो भी दोषी होगा उसके खिलाफ सख्त से सख्त कार्रवाई हो। धनंजय मुंडे नैतिकता के आधार पर अपने पद से इस्तीफा दें। वाघ ने कहा कि इस तरह के हाईप्रोफाइल मामले में पीड़िता और उसके परिवार पर दबाव बनाने का प्रयास किया जा सकता है। साथ ही सबुतों के साथ छेड़छाड़ की जा सकती है, इसलिए धनंजय मुंडे अपने पद से इस्तीफा दें।

गौरतलब है कि महाराष्ट्र की राजनीति में मंगलवार को तब भूचाल आ गया था जब एक गायिका रेनू शर्मा ने सरकार के सामाजिक कल्याण एवं न्याय मंत्री धनंजय मुंडे के ऊपर दुष्कर्म का आरोप लगा दिया। रेनू शर्मा, उस करुना शर्मा की छोटी बहन है, जिनसे लिव-इन रिलेशनशिप में रहने की बात खुद मुंडे ने मंगलवार को स्वीकार किया है।

पुलिस कमिश्नर से की शिकायत 

रेनू शर्मा ने मुंबई पुलिस आयुक्त परमबीर सिंह को पत्र लिख कर आरोप लगाया है कि जब वह घर पर अकेली थी, तो उस समय धनंजय मुंडे उसके घर आए और उसकी इच्छा विरुद्ध शारीरिक संबंध बनाया। पीड़िता ने अपनी जान को खतरा होने की बात कही है। पीड़िता ने शिकायती पत्र को सोशल मीडिया पर ट्वीट कर लोगों को इसकी जानकारी दी। पीडिता ने कहा कि वह धनंजय मुंडे को वर्ष 1997 से ही जानती है जब वह नाबालिग थी। उनकी बहन करुणा का धनंजय मुंडे के साथ प्रेम विवाह हुआ था। उसकी मुंडे से मुलाकात बहन के घर पर ही मध्य प्रदेश में हुई थी। उसका आरोप है कि आरोप लगाया कि वर्ष 2006 में उनकी बहन डिलीवरी के लिए इंदौर गयी थी, तब धनंजय मुंडे उनके घर पर आए। वह घर पर अकेली थी। जब उनकी बहन करुणा कार्य से घर से बाहर जाया करती थी, तो मुंडे उनका शोषण करते थे। पीड़िता के मुताबिक उनकी बहन करुणा और मुंडे की शादी वर्ष 1998 में हुई थी। 

मुझे बदनाम करने की साजिश

मंगलवार को रेनू का ट्वीट वायरल होने के बाद मुंडे ने फेसबुक पर एक पोस्ट के जरिए करुणा के साथ लिव-इन में रहने की बात कबूल ली और कहा कि फ़िलहाल जो कुछ हो रहा है वह उन्हें बदनाम करने की और उनसे पैसे वसूलने की साजिश है। उन्होंने लिखा, मैं 2003 से करुणा शर्मा नाम की एक महिला के साथ रिश्ते में हूं और मेरे परिवार, पत्नी और दोस्त सभी इससे वाकिफ हैं. करुना से से हमारे दो बेटे (एक बेटा और एक बेटी) हैं। मैंने इन दोनों बच्चों को अपना नाम दिया है और ये बच्चे मेरे साथ रहते हैं। मेरे परिवार, पत्नी और मेरे बच्चों ने भी इन बच्चों को परिवार के सदस्यों के रूप में स्वीकार किया है। मैंने करुना को मुंबई में एक फ्लैट दिलाने में मदद की है। मैंने उन्हें बीमा पॉलिसी और उनके भाई को एक व्यवसाय स्थापित करने में मदद की है।

ब्लैकमेल करना शुरू कर दिया

मुंडे के अनुसार, करुणा शर्मा और उनकी बहन रेनू शर्मा ने 2019 से उन्हें ब्लैकमेल करना शुरू कर दिया, पैसे की मांग की और उन्हें गंभीर रूप से नुकसान पहुंचाने की धमकी दी। उनके भाई बृजेश शर्मा भी इस प्रक्रिया में शामिल थे। इस संबंध में पुलिस में शिकायत भी दर्ज कराई गई है, जो 12 नवंबर, 2020 से मई 2019 तक होती रही है। नवंबर 2020 में करुणा शर्मा ने मुझे बदनाम करने और मुझे ब्लैकमेल करने के इरादे से सोशल मीडिया पर मुझसे संबंधित बहुत ही निजी और निजी सामग्री प्रकाशित की थी। इसलिए, मैंने इस मामले में न्याय मांगने के लिए करुणा शर्मा के खिलाफ उच्च न्यायालय में याचिका दायर की है।