crime

  • पैसे को लेकर विवाद में हत्या का खुलासा
  • डोंगरी पुलिस की कार्रवाई

मुंबई. दक्षिण मुंबई के डोंगरी इलाके में पैसे बंटवारे को लेकर विवाद में एक युवक हत्या कर दी गयी थी और पुलिस को युवक खून से लथपथ मिला था. उसे जेजे अस्पताल ले जाया गया, जहां डाॅक्टरों ने मृत घोषित कर दिया. डोंगरी पुलिस ने आरोपी बबलू उर्फ बदरू यादव को नेपाल बार्डर से गिरफ्तार किया.

सहायक पुलिस आयुक्त अविनाश धर्माधिकारी ने बताया कि 15 सितंबर को डोंगरी पुलिस को जेल रोड स्थित अल अमीर बिल्डिंग के एक फ्लैट के बाहर एक युवक खून से लथपथ पड़े होने की सूचना मिली. पुलिस टीम मौके पर पहुंची और खून से लथपथ युवक को जेजे अस्पताल ले गयी, जहां डाॅक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया. व्यक्ति सिर पर पर गहरे जख्म थे. डोंगरी पुलिस ने हत्या का मामला दर्ज किया. दक्षिण प्रादेशिक विभाग के अतिरिक्त पुलिस आयुक्त सत्यनारायण चौधरी, परिमंडल-1 के पुलिस उपायुक्त शंग्राम सिंह निशानदार और सहायक पुलिस आयुक्त अविनाश धर्माधिकारी के मार्गदर्शन में डोंगरी पुलिस ने मामले की जांच शुरू की.

खून से लथपथ मिला युवक

 पुलिस को जांच में मृतक की पहचान कारपेंटर मुकेश गुप्ता के रूप में हुई. जिस फ्लैट के सामने वह पड़ा था, उसमें कारपेंटर के काम का ठेका बबलू उर्फ बदरू यादव (29) ने लिया था. पुलिस ने उसे संपर्क करने की कोशिश की, तो उसका मोबाइल बंद था. बबलू के साथ ही मुकेश काम करता था. पुलिस को बबलू पर हत्या का शक हुआ. पुलिस को जांच में पता चला कि बबलू उत्तर प्रदेश अपने गांव चला गया है.

नेपाल बार्डर से पकड़ाया

डोंगरी पुलिस स्टेशन के सहायक पुलिस निरीक्षक प्रकाश लिंगे और उप निरीक्षक स्नेहल सिंह खुले की टीम यूपी के लिए रवाना हुई और मीरगंज पहुंची तो पता चला कि उसे पुलिस के आने की भनक लग गयी और वहां से नेपाल फरार हो गया है. पुलिस ने उसे ट्रेस कर नेपाल बार्डर से गिरफ्तार किया.

पैसे के लेन-देन में हत्या

पुलिस की पूछताछ में उसने अपने एक साथी के साथ मुकेश गुप्ता की हत्या करने का जुर्म कबूल किया. उसे कारपेंटर के काम के लिए पैसा मिला था. उसने कुछ पैसे मुकेश को दिए, लेकिन वह और पैसे मांगने लगा. इसको लेकर उनका मुकेश से झगड़ा हुआ और मारपीट की नौबत आ गयी. उसने गुस्से में कारपेंटर के लिए इस्तेमाल होने वाली हथौडी से मुकेश के सिर पर मार दिया और फरार हो गया.