CM Uddhav Thackrey

    मुंबई. कोरोना महामारी की तीसरी लहर के चलते भीड़ को कंट्रोल करने के लिए एक नेशनल पॉलिसी बनाने की जरुरत है। यह बात महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री (Maharashtra Chief Minister) उद्धव ठाकरे (Uddhav Thackeray) ने पीएम नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) के साथ वीडियो कांफ्रेसिंग (video conferencing) संवाद में कही। ठाकरे ने कहा कि पॉलिसी की मदद से विभिन्न स्थानों पर धार्मिक, सामाजिक कारणों के साथ-साथ राजनीतिक आयोजनों और आंदोलन के कारण जमा होने वाली भीड़ को रोका जा सकता है। 

    मुख्यमंत्री ने लोगों की बढ़ती भीड़ के लिए रिवेंज टूरिज्म और शॉपिंग टर्म का इस्तेमाल करते हुए चिंता जताई। उन्होंने कहा कि कोरोना संक्रमण  में कमी आने के बाद अब लोगों को बेफिक्री के साथ घूमने और शॉपिंग करने के लिए निकल रहे हैं।  बिना काम के घूमना लोगों के लिए घातक साबित हो सकता है।  ठाकरे ने कोरोना की संभावित तीसरी लहर से निपटने के लिए राज्य सरकार की तैयारियों से भी पीएम मोदी को अवगत कराया।  पीएम मोदी 6 राज्यों के मुख्यमंत्री की बैठक को संबोधित कर रहे थे। मरीजों की संख्या में और कमी आएगी।  सीएम ठाकरे ने पीएम मोदी को बताया कि दूसरी लहर अभी पूरी तरह से ख़त्म नहीं हुई है, लेकिन महाराष्ट्र में मरीजों की संख्या और मृत्यु दर में गिरावट आ रही है। इसे और कम करने की जरूरत है, उन्होंने कहा कि हम अग्रिम पंक्ति के कार्यकर्ताओं के टीकाकरण में तेजी ला रहे हैं और टीकों की बर्बादी की दर को कम कर रहे हैं।

    कोरोना की मिले ज्यादा खुराक सीएम ठाकरे ने पीएम को बताया कि महाराष्ट्र में कोरोना की तीसरी संभावित लहर से निपटने के लिए हम तैयार है और उद्योग को बचाए रखने के लिए सभी उपाय किए जा रहे हैं।  उन्होंने पीएम मोदी से राज्य को टीकों की अधिकतम खुराक देने की मांग की है। ठाकरे ने आवश्यक दवाओं की कीमतों को नियंत्रित करने के अलावा पोस्ट कोविड उपचार के लिए एक्सीलेंस सेंटर बनाने के लिए केंद्र सरकार से मदद मांगी है।