ओबीसी महामंडल को भी मिले निधि

  • वडेट्टीवार ने कहा, मराठा समाज का विरोध नहीं
  •  52 प्रतिशत आबादी को भी मिलनी चाहिए मदद

मुंबई. राहत एवं पुनर्वास मंत्री विजय वडेट्टीवार ने मराठा समाज के हित में महाविकास आघाड़ी सरकार के फैसले का स्वागत करते हुए कहा है कि ओबीसी महामंडल को भी निधि मिलनी चाहिए. मंगलवार को मंत्रिमंडल की बैठक में मराठा आरक्षण को लेकर शुरू आंदोलन को देखते हुए कई महत्वपूर्ण निर्णय लिए गए. सारथी के लिए 130 करोड़ और अण्णासाहेब पाटिल महामंडल को 400 करोड़ रुपये देने की घोषणा की गई है. 

कांग्रेस के नेता एवं मंत्री विजय वडेट्टीवार ने कहा है कि मराठा समाज को न्याय देने के लिए महाविकास आघाड़ी सरकार अडिग है. मराठा समाज को कुछ भी दिए जाने का विरोध नहीं है, लेकिन 52 प्रतिशत ओबीसी समाज को भी मदद मिलनी चाहिए. ओबीसी समाज के नेताओं ने इस तरह की मांग की है.जनसंख्या के अनुपात में निधि का वितरण किया जाना चाहिए. एक समाज को खुश और दूसरे को नाराज करने की जरुरत नहीं है. ओबीसी वर्ग सबसे अधिक उपेक्षित है. कोली, माली, धनगर समाज रोज कमाने खाने वाला बड़ा वर्ग है. ओबीसी महामंडल और वसंतराव नाईक महामंडल को निधि मिलनी चाहिए.