बीएमसी में ऑनलाइन पढ़ाई, शिक्षकों के लिए जारी हुई गाइडलाइंस

मुंबई. मुंबई में कोरोना के कारण भले ही प्रत्यक्ष तौर पर स्कूलों में पढ़ाई नहीं शुरू की गई है, लेकिन ऑनलाइन शिक्षा सत्र शुरू कर दिया गया है. स्कूलों में बच्चों को किस तरह पाठ्यक्रम को शुरु करना है इसके लिए बीएमसी ने शिक्षकों को गाइड लाइन जारी किया है. विद्यार्थियों को स्कूल में कैसे सुरक्षित रखना है, 15 जून से शैक्षणिक वर्ष और शिक्षा ऑनलाइन अथवा ऑफलाइन कैसे होगी इसके लिए भी पूरी जानकारी उपलब्ध कराई गई है. 

कोरोना के कारण शिक्षा पद्धति में बदलाव

कोरोना के कारण शिक्षा पद्धति में बदलाव किया गया है. महानगरपालिका क्षेत्रों में स्कूल कब शुरु करना है, परिस्थिति के अनुसार यह निर्णय आयुक्त को लेना है. मुंबई में स्कूलों को शुरु करने के बारे में बीएमसी ने निर्देश दिया है कि पुस्तकें और अन्य सामग्री देने के लिए अभिभावकों को अलग-अलग समय पर बुलाकर सुरक्षित अंतर रखते हुए वितरण करें. 

शिक्षकों और शिक्षकेत्तर कर्मचारियों को अनिवार्य रूप से उपस्थित रहने का आदेश 

यदि कुछ विद्यार्थियों को पुस्तक नहीं मिलती है तो शैक्षणिक नुकसान रोकने के लिए पिछले साल की पुस्तकें उपलब्ध कराएं. अभिभावकों को स्कूल में बुलाकर पाठ्यपुस्तक देने का निर्देश प्रधानाध्यापक को दिया गया है. स्कूल में सभी शिक्षकों और शिक्षकेत्तर कर्मचारियों को अनिवार्य रूप से उपस्थित रहने का आदेश दिया गया है. 30 जून तक ई-लर्निंग शैक्षणिक सुविधा के अनुसार घर पर रह कर ऑनलाइन अथवा ऑफलाइन पद्धति से पढ़ाई कराएं. 25 जून से 30 जून के घर से शिक्षा देने वाले शिक्षकों की उपस्थिति दर्ज की जाएगी. मुंबई में प्रति वर्ष 13 जून को स्कूलों में पढ़ाई शुरु हो जाती थी, लेकिन इस बार 15 जून से शिक्षा सत्र शुरु किया गया है. इस बार शिक्षकों को कंप्यूटर पर एंटर का बटन दबा कर वर्चुअल क्लास रुम में उपस्थिति दर्ज कराना पड़ा है. 

दसवीं के विद्यार्थियों का ऑनलाइन स्कूल शुरु 

महाराष्ट्र में  15 जून से दसवीं के विद्यार्थियों का ऑनलाइन  स्कूल शुरु हो गया है. ई-स्कूल के कारण बच्चों पर  शारीरिक, मानसिक तनाव आने की संभावना व्यक्त करते हुए कुछ संगठनों और अभिभावकों ने विरोध किया था, लेकिन किसी भी परिस्थिति में विद्यार्थियों के शैक्षणिक नुकसान नहीं हो इसके लिए सरकार ने विरोध को नजरअंदाज किया.