9,27,000 new cases of Covid-19 were reported in Europe in a week
File Photo : PTI

  • एक्टिव मरीजों की संख्या में लगातार कमी आ रही

मुंबई. मुंबई में कोरोना से होने वाली मौतों में अपेक्षित सफलता नहीं मिल रही है. रोज 45 से 50 मरीजों की मौत हो रही है. पालघर जिले की महानगरपालिका वसई-विरार में भी रोज 8 से 10 मरीजों की मौत हो रही है, लेकिन पालघर ग्रामीण में कोरोना से होने वाली मौतें लगभग थम गई हैं.

पालघर ग्रामीण में शुक्रवार तक कुल 283 मरीजों की मौत हुई थी. पिछले 9 दिन में मात्र 4 मरीजों की मौत हुई है. 15 अक्टूबर को मृतकों की संख्या यहां 279 थी. 23 अक्टूबर को  यह संख्या 283 पर पहुंची. पिछले 4 दिन में एक भी मरीजों की मौत नहीं हुई. मुंबई में होने वाली मौतों में खास फर्क नहीं पड़ा है. सितंबर की अपेक्षा मौतों की संख्या में कुछ कमी जरूर आई है, लेकिन अब भी रोज लगभग 50 मरीजों की मृत्यु हो रही है. 

राज्य की स्थिति भी कमोबेस मुंबई के जैसे ही 

राज्य की स्थिति भी कमोबेस मुंबई के जैसे ही है. अब भी रोज 200 से ज्यादा मरीजों को अपनी जान गंवानी पड़ रही है. कारगर उपाय नहीं होने के कारण मृत्यु को कैसे कम करें डॉक्टरों को भी कोई उपाय नहीं सूझ रहा है. कोरोना के लिए कारगर मानी जा रही रेमडेसिवीर दवा का सोच समझ कर उपयोग करने की सलाह कोरोना नियंत्रण समिति ने दी है. समिति ने पाया कि संक्रमण के एक दो दिन में अच्छा परिणाम आ रहा है, लेकिन उसके बाद दवा घातक साबित होती है.  शुक्रवार को मुंबई में कोरोना से मरने वालों की संख्या 10,009 हो गई. जबकि राज्य में 43,015 मरीजों की मौत हो चुकी है. राज्य में हुई मौतों में एक चौथाई मौत मुंबई में हो चुकी है. 

मुंबई में 1470, राज्य में  7374 नए मरीज

मुंबई में 1470 नए मरीज मिले हैं और 48 मरीजों की मौत हुई. मुंबई में मरीजों की संख्या 2 लाख 48 हजार 802 हो गई है. अब तक 2 लाख 20 हजार 654 मरीज ठीक हो चुके हैं. महाराष्ट्र में शुक्रवार को  7374 नए मरीज मिले, जबकि 13,247 मरीज ठीक हुए हैं. दिनभर में 184 मरीजों की मौत हो गई. कुल मरीजों की संख्या 16 लाख 32 हजार 544 है.14 लाख 45 हजार 103 मरीज ठीक हो चुके हैं. एक्टिव मरीजों की संख्या में लगातार कमी आ रही है.1 लाख 43 हजार 922  एक्टिव मरीज हैं जिनका इलाज चल रहा है.