Be prepared to deal with diseases other than corona virus in monsoon_ Task Force

    मुंबई. मुंबई में कोरोना मरीजों (Corona Patients) की संख्या में कमी आ रही लेकिन अब मानसूनी बीमारियों (Monsoon Disease) ने सिर उठाना शुरु कर दिया। कोरोना के साथ ही मानसूनी बीमारियों का खतरा बढ़ने लगा है। बीएमसी (BMC) के अनुसार जनवरी 2021 से 11 जुलाई 2021 तक  मलेरिया (Malaria) के 1991,  गेस्ट्रो (Gastro) के 1384  और  डेंगू (Dengue) के 57 मामले सामने आए हैं। हालांकि मानसूनी बीमारी से इस साल अभी तक  किसी की मृत्यु नहीं हुई है, लेकिन मानसूनी बीमारियों ने मुंबईकरों की  चिंता बढ़ा दी है। कोरोना की पहली लहर पिछले साल मार्च में आई थी, जबकि फरवरी 2021 के मध्य में कोरोना की दूसरी लहर ने मरीजों की संख्या भारी वृद्धि हुई। राज्य सरकार द्वारा लगाए गए प्रतिबंधों और महानगरपालिका द्वारा किए गए प्रभावी उपायों के कारण अब कोरोना नियंत्रण में है। दूसरी लहर में रोजाना मरीजों की संख्या 11 हजार के आंकड़े पार कर चुकी थी, जो अब घटकर 441 रह गई है।

    मानसूनी बीमारियों से निपटने महानगरपालिका तैयार

    बीएमसी न कहा है कि वह कोरोना के साथ ही मानसूनी बीमारियों से भी निपटने के लिए विशेष इंतजाम किए हैं।  मई आखिरी में  केईएम, नायर, सायन और कूपर के मुख्य अस्पतालों सहित 16 उपनगरीय अस्पतालों में 1,500 बेड मानसूनी बीमारियों के इलाज के लिए तैयार किए गए हैं।  इसके अलावा डॉक्टरों, नर्सों और स्वास्थ्य कर्मियों सहित मरीजों के लिए बेड की भी व्यवस्था  की गई है। तीसरी लहर के आहट सुनाई देने लगी है।

    मुंबई में 441 राज्य में 7243 नए मरीज

    मंगलवार को कोरोना के 441 नए मरीज पाए गए और 8 मरीजों की मौत हो गई।  600 मरीजों को अस्पताल से छुट्टी दे दी गई।  इसी प्रकार राज्य में 7243 नये मरीज मिले।  24 घंटे में 196 मरीजों की मौत हो गई। 10,978 मरीजों को डिस्चार्ज दिया गया।   राज्य में सांगली 900 पुणे 861के बाद सातारा 777, कोल्हापुर 704 अहमदनगर 575 मरीज मिले। इसके अलावा मुंबई और सोलापुर में ही सबसे अधिक मरीज मिल रहे हैं।  

    मुंबई के आंकड़े

    • कुल टेस्ट- 7592501
    • कुल पॉजिटिव केस- 728615
    • कुल मौत- 15644
    • कुल ठीक हुए- 703677
    • डबलिंग रेट- 925 दिन
    • चाल/ स्लम सील- 5
    • इमारतें सील- 66

    राज्य के आंकड़े

    • कुल टेस्ट- 4,43,83,113
    • कुल पॉजिटिव केस- 61,72,645
    • कुल मौत- 126220
    • कुल ठीक हुए- 59,38,734