P17A श्रेणी युद्धपोत की कील रखी

  • मझगांव डाकयार्ड में ‘की लेईंग’ समारोह

मुंबई. मझगांव डॉकयार्ड में युद्धपोतों का निर्माण किया जा रहा है. भारतीय नौसेना के वाइस एडमिरल एसआर शर्मा और आईएएस अपर सचिव (रक्षा उत्पादन) वीएल कांथा राव ने P17A श्रेणी के स्टील्थ युद्धपोत के तीसरे पोत (यार्ड-12653) का यहां आयोजित ‘की लेईंग’ समारोह में ई प्लेटफार्म के जरिए कील रखी. इस अवसर पर वाइस एडमिरल आरबी पंडित, वॉइस एडमिरल और एमडीएल के सीएमडी नारायण प्रसाद (भारतीय नौसेना) मौजूद थे.

समारोह में रियर एडमिरल जीके हरीश, कोमोडोर टीवी थॉमस (भानौ नि), रियर एडमिरल ए के सक्सेना (भानौ नि), कमांडर जसबीर सिंह (भानौ नि), संजीव सिंघल आदि मौजूद थे.

7 फ्रीगेट्स का हो रहा निर्माण

P17A श्रेणी के अंतर्गत सात फ्रीगेट्स (युद्ध पोतों) का निर्माण किया जा रहा है, जिनमें से चार का निर्माण एमडीएल में और तीन का जीआरएसई में एमडीएल के नेतृत्व में किया जा रहा है. पी17ए श्रेणी युद्धपोत का निर्माण देश में विकसित स्टील के उपयोग से किया जा रहा है और आयुद्ध एवं सेंसर्स उन्नत एकीकृत प्लेटफार्म प्रबंधन प्रणाली सहित फिट किया गया है. इन युद्धपोतों में स्टील्थ विशेषताए हैं.

आधुनिक तकनीक का प्रयोग

पी17ए पोतों का निर्माण आधुनिक तकनीक इंटीग्रेटेड कंस्ट्रक्शन (आईसी) को अपनाकर किया जा रहा है. यह पारम्परिक युद्धपोत निर्माण की अवधारणा से भिन्न है. इन युद्धपोतों के निर्माण होने के बाद भारतीय नौसेना बेड़े की क्षमता में काफी इजाफा होगा.