Sandeep Deshpande

मुंबई. इलेक्ट्रिक वाहन (Electric Vehicle) के क्षेत्र में विश्व की बड़ी कंपनियों में शामिल ‘टेस्ला’ (Tesla) ने महाराष्ट्र (Maharashtra) की बजाय कर्नाटक (Karnataka) के बंगलुरु (Bangalore) में रजिस्ट्रेशन (Registration)करवाया है। इसको लेकर महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना (MNS) ने पर्यावरण मंत्री आदित्य ठाकरे को चिढ़ाया है। मनसे नेता संदीप देशपांडे (Sandeep Deshpande) ने आदित्य ठाकरे पर निशाना साधते हुए कहा है कि मंत्री बड़ी-बड़ी बातें करते हैं, लेकिन काम कुछ भी नहीं। 

राज्य के पर्यावरण मंत्री आदित्य ठाकरे ने टेस्ला कंपनी को  महाराष्ट्र में आने का निमंत्रण दिया था। ठाकरे ने वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए टेस्ला की टीम से चर्चा की थी और महाराष्ट्र में व्यवसाय शुरु करने का निमंत्रण दिया था। उन्होंने केवल निवेश के लिए ही नहीं, बल्कि भविष्य में  इलेक्ट्रिक मोबिलिटी का विचार करके निमंत्रण दिया था। इसकी जानकारी खुद आदित्य ठाकरे ने ट्वीट कर दी थी।

केवल बड़ी-बड़ी बातें, काम कुछ नहीं

आदित्य ठाकरे के उसी ट्वीट का रिप्लाई देते हुए मनसे नेता संदीप देशपांडे ने कहा है कि टेस्ला कंपनी कर्नाटक में भाग गयी, पेज-3 मंत्री को झटका, केवल बड़ी-बड़ी बातें, काम कुछ नहीं।  टेस्ला कंपनी ने ‘टेस्ला मोटर्स इंडिया एंड एनर्जी प्राइवेट  लिमिटेड’ नाम से कर्नाटक के बंगलुरु में रजिस्ट्रेशन करवाया है। इसके साथ ही कंपनी ने 3 निदेशकों की नियुक्ति भी की है। टेस्ला भारत में लग्जरी इलेक्ट्रिक वाहनों का उत्पादन करेगी।