Balasaheb Thorat

मुंबई. कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष व सांसद राहुल गांधी (Rahul Gandhi) की योग्यता को आंकने में राकां अध्यक्ष शरद पवार (Sharad Pawar) से चूक हुई है। यह खुलासा प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष बालासाहेब थोरात (Balasaheb Thorat) ने किया है। उन्होंने कहा कि राहुल ने बचपन से ही कई संकटों का सामना किया है। थोरात ने कहा कि विरोधी दलों ने सोशल मीडिया के माध्यम से राहुल को आलोचना करने में कोई कसर नहीं छोड़ी। ऐसे मुश्किल समय में उन्हें पार्टी का नेतृत्व दिया गया था। थोरात ने विश्वास जताया है कि आने वाले दोनों में राहुल एक बार फिर पार्टी का सफल नेतृत्व करेंगे। उन्होंने कहा कि पवार एक अनुभवी नेता हैं, लेकिन उन्हें राहुल गांधी की योग्यता को दूसरे तरीके से देखना होगा।

पवार ने क्या कहा था

पवार ने अपने एक बयान में कहा है कि कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष व सांसद राहुल गांधी के अंदर राजनीतिक स्थिरता की कमी है। उनके इस बयान पर प्रदेश कांग्रेस की कार्यकारी अध्यक्ष व कैबिनेट मंत्री यशोमति ठाकुर ने कड़ी नाराजगी जताई थी। उन्होंने महाराष्ट्र विकास आघाड़ी के साथी दलों को चेताते हुए कहा है कि अगर वे महाराष्ट्र में स्थिर सरकार चाहते हैं तो उन्हें कांग्रेस के शीर्ष नेताओं पर गलत बयानी बंद करनी चाहिए। हालांकि शिवसेना प्रवक्ता संजय राउत ने कहा था कि पवार बड़े नेता हैं और अगर उनके जैसा अनुभवी नेता किसी भी राजनेता के बारे में कोई टिप्पणी करता है तो उसे उनका  मार्गदर्शन समझा जाना चाहिए।