लोगों को मनपा का दवाखाना खुलने का इंतजार

  •  इलाज के लिए दर-दर भटक रहे राम मंदिर क्षेत्र के लोग

मुंबई. कोरोना कॉल में एक तरफ जहां मुंबई महानगरपालिका इलाज को लेकर तमाम दावे कर रही है, वहीं दूसरी ओर राम मंदिर क्षेत्र के लोग 7 साल से दवाखाना खुलने का इंतजार कर रहे हैं.

उल्लेखनीय है कि एमएमआरडीए द्वारा वर्ष 2013 में राम मंदिर क्षेत्र की इमारत P1 में दवाखाना के लिए तीन कमरे एलाट किए गए थे. लेकिन आज तक दवाखाना शुरू नहीं हो पाया और एमएमआरडीए द्वारा एलाट किए गए कमरों में ताले लटक रहे हैं. 

मनपा कमिश्नर को लिखा पत्र

इस बीच गोरेगांव युवक कांग्रेस अध्यक्ष मनोज यादव ने मनपा कमिश्नर और मनपा के /पश्चिम विभाग परिमंडल-4 के उपायुक्त को पत्र लिखकर दवाखाना शुरू करने की मांग की है. यादव ने पत्र में लिखा है दवाखाना के लिए एमएमआरडीए ने अपनी इमारत P1 में तीन कमरे वर्ष 2013 में ही एलाट कर दिए थे,लेकिन आज तक दवाखाना शुरू नहीं हुआ है. क्षेत्र का एकमात्र मनपा का सिद्धार्थ अस्पताल बंद है, ऐसे में स्थानीय गरीब जनता को इलाज के लिए दर-दर भटकना पड़ रहा है. उन्होंने मनपा अधिकारियों से तत्काल दवाखाना शुरू कर करने की मांग की है.

तत्काल शुरू किया जाए दवाखाना

क्षेत्र के लोगों के लिए एकमात्र सिद्धार्थ अस्पताल बंद है. ऐसे में लोगों को काफी मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है, इसलिए आम लोगों के स्वास्थ्य को ध्यान में रखते हुए एमएमआरडीए की इमारत में एलाट किए गए 3 कमरे में तत्काल दवाखाना शुरू किया जाए, जिससे गरीब जनता को इलाज के लिए इधर-उधर भटकना न पड़े. -मनोज यादव, युवक कांग्रेस नेता