उत्तर मुंबई के कन्टेनमेंट जोन में पुलिस हुई सख्त, मालाड से दहिसर तक संपूर्ण ‘लॉकडाउन’

मुंबई. उत्तर मुंबई के जोन-11 और जोन-12 में कोरोना के बढ़ते प्रभाव को कम करने के लिए लॉकडाउन को सख्त कर दिया गया है. जहां धारावी और वर्ली में कोरोनो के मामलों की संख्या कम हो रही है तो वहीं उत्तरी मुंबई के अनेक क्षेत्रों में कोरोना के मामले बढ़ते जा रहे हैं.

इसमें मालाड, कांदीवली, बोरीवली से लेकर दहिसर तक के कई परिसरों का समावेश है. बड़ी संख्या में संक्रमण के तेजी से बढ़ते मामलों के मद्देनजर मनपा और पुलिस प्रशासन ने प्रभावित इलाके में कर्फ्यू लगा दिया है. इसको ध्यान में रखते हुए इस क्षेत्र में सख्त लॉकडाउन लागू करने का निर्णय लिया गया है.

गैर-आवश्यक दुकानें बंद कर दी गई 

पूर्ण लॉकडाउन के कारण सभी गतिविधियां और गैर-आवश्यक दुकानें बंद कर दी गई हैं. इसके अलावा सील इमारतों में नियमों का कड़ाई से पालन कराया जा रहा है. संयुक्त पुलिस आयुक्त (कानून एवं व्यवस्था) विनय चौबे, उत्तर मुंबई क्षेत्र के अतिरिक्त पुलिस आयुक्त दिलीप सावंत, उपायुक्त डी. एस. स्वामी, उपायुक्त डॉ. मोहन दहिकर तथा मनपा उपायुक्त विश्वास शंकरवार, सहायक आयुक्त संजोग काबरे आदि ने इस बैठक में लॉक डाउन को कड़ाई से पालन कराने का निर्णय लिया. 

एसआरपीएफ की अतिरिक्त इकाइयों  को किया तैनात

मालाड में कोरोना के मामलों में तेजी से वृद्धि हो रही है, इसलिए मालाड पूर्व के  अप्पपाड़ा, कोकनीपाड़ा तथा पश्चिम के मालवणी में सख्त तालाबंदी जारी रहेगी. सभी अधिकारियों ने स्पष्ट किया कि कांदिवली पूर्व के पोइसर, बोरीवली के काजुपाड़ा, दहिसर के अंबावाड़ी और केतकीपाड़ा में भी एक सप्ताह तक तालाबंदी लागू रहेगी. स्थानीय पुलिस की मदद के लिए राज्य रिजर्व पुलिस बल (एसआरपीएफ) की अतिरिक्त इकाइयों को उत्तर मुंबई के जोन-11 और जोन-12 के क्षेत्रों में तैनात किया गया है.