महाराष्ट्र में राजनीतिक भूकंप!, फडणवीस और राउत के बीच लगभग 2 घंटे चली गुप्त बैठक

  • नए राजनीतिक समीकरण को बल

मुंबई. बिहार चुनाव को लेकर शिवसेना की तरफ से बीजेपी पर हर रोज हो रहे हमले के बीच महाराष्ट्र में राजनीतिक भूकंप के संकेत मिले हैं. शनिवार को शिवसेना नेता संजय राउत और पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस के बीच लगभग 2 घंटे की गुप्त मुलाकात से राज्य में गहमागहमी तेज हो गई है. इस मुलाकात को लेकर तरह-तरह की अटकलें लगनी शुरु हो गयी हैं.

 राज्य की महाविकास आघाड़ी सरकार के शिल्पकार माने जाने वाले शिवसेना नेता संजय राउत और पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस की मुलाकात शनिवार को दोपहर लगभग डेढ़ बजे सांताक्रूज स्थित होटल हयात में हुई. दोनों नेताओं के बीच लगभग 2 घंटे तक चर्चा हुई. इस मुलाकात की जानकारी मिलने के बाद तरह-तरह की चर्चा शुरु हो गयीं. यह भी कयास लगाया जाने लगा है कि शिवसेना और भाजपा फिर एक साथ आ सकती है.

एक सप्ताह पहले दिल्ली में मिले थे दानवे और राउत

शिवसेना नेता संजय राउत ने शुक्रवार को एक ट्वीट किया था जिसमें उन्होंने कहा था कि ‘किसी भी रिश्ते को कितनी भी खूबसूरती से क्यों ना बांधा जाए, अगर नजरों में इज्जत और बोलने में लिहाज ना हो, तो वह टूट जाता है’.इस ट्वीट को भी देवेंद्र फडणवीस की मुलाकात को जोड़ कर देखा जा रहा है. इसके पहले केंद्रीय राज्यमंत्री एवं महाराष्ट्र बीजेपी के पूर्व अध्यक्ष रावसाहेब दानवे ने दिल्ली में शिवसेना नेता संजय राउत से उनके निवास पर मुलाकात की थी. शनिवार को देवेंद्र फडणवीस और संजय राउत से मुलाकात के बाद दानवे ने कहा कि इस तरह की मुलाकातें होती रहेंगी. जबकि विधान परिषद में विपक्ष के नेता प्रवीण दरेकर ने कहा कि राजनीति में सब कुछ संभव है.

इतनी जल्दी नज़दीक आना संभव नहीं: मुनगंटीवार 

 हालांकि बीजेपी के वरिष्ठ नेता एवं पूर्व मंत्री सुधीर मुनगंटीवार ने कहा कि भाजपा और शिवसेना का इतनी जल्दी नज़दीक आना संभव नहीं है. शिवसेना ने हमारे नेता प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, अमित शाह को लेकर इस तरह के उद्गार व्यक्त किया है जिससे भाजपा के कार्यकर्ता नाराज हैं. दो घंटे की बैठक में एक बार फिर दिल जुड़ जाएगा ऐसा लगता नहीं है.

राजनीतिक बैठक नहीं हुई : केशव उपाध्ये 

बीजेपी के प्रदेश प्रवक्ता केशव उपाध्ये ने कहा है कि दोनों नेताओं के बीच राजनीतिक बैठक नहीं हुई. संजय राउत ने सामना अखबार के लिए बिहार चुनाव को लेकर साक्षात्कार लेने के लिए समय मांगा था, जिसके लिए देवेंद्र फडणवीस होटल में गए थे. देवेंद्र फडणवीस को बीजेपी ने बिहार चुनाव का प्रभारी बनाया है.

देखें वीडियो 

संजय राउत ने सामना के लिए देवेंद्र फडणवीस का साक्षात्कार लेने की इच्छा जताई थी. इस संदर्भ में एक बार मुलाकात करने का निश्चय किया गया था. देवेंद्र फडणवीस की इच्छा थी कि पूरा साक्षात्कार अनएडिटेड प्रकाशित किया जाय.इस संदर्भ में योजना तैयार करने को लेकर मुलाकात हुई. बिहार चुनाव से वापस लौटने पर साक्षात्कार देने की बात देवेंद्र फडणवीस ने संजय राउत को बताई है.इस मुलाकात से किसी तरह का राजनीतिक संबंध नहीं है. -प्रवीण दरेकर, विरोधी पक्ष नेता, विधानपरिषद

देवेंद्र फडणवीस एवं मैं  एक वेबिनार में साथ में ही थे. राजकीय क्षेत्र में इस तरह की मुलाकात होती रहती है. इसमें खबर होती है ऐसा नहीं. पिछले 9 महीने में देवेंद्र फडणवीस अथवा हमने फिर से सरकार बनाएंगे ऐसा नहीं कहा है. हां यह कहा था कि यह सरकार अंतर्विरोध की वजह से गिरेगी.हम इस सरकार को नहीं गिराएंगे.यह हमारी संस्कृति नहीं है. -चंद्रकांत पाटिल, अध्यक्ष, महाराष्ट्र भाजपा