covid-19: Indore: Number of people in marriage-funeral process limited due to increase in number of infected

– एस वार्ड में मरीजों की संख्या दो गुना होने की अवधि 24 दिन

– बुधवार को मिले 103 मरीज, कुल कोरोना पॉजीटिव की संख्या 3857

– अब तक 251 की गई जान

मुंबई. मनपा प्रशासन की तरफ से दावा किया जा रहा है कि मुंबई में कोरोना का असर लगातार कम हो रहा है. कोरोना मरीजों की संख्या  दो गुना होने की कालावधि लगातार बढ़ रही है, लेकिन नए मरीजों की संख्या में खासा असर नहीं दिखाई दे रहा है.उत्तर एवं उत्तर पूर्व मुंबई में कोरोना के मरीजों की संख्या के मामलों में लगातार बढ़ोत्तरी हो रही है.

मनपा का एस वार्ड कोरोना की संख्या के मामले में भले ही छठे स्थान पर है, लेकिन मरीजों की संख्या दो गुना होने की कालावधि 24 दिन  है. मरीजों की संख्या बढ़ने की तीव्रता 2.9 प्रतिशत है.जो तेजी से कोरोना बढ़ने वाले वार्डो की सूची में तीसरे स्थान पर है. एस वार्ड में कोरोना की वजह से अब तक 251 लोगों की मौत हो चुकी है.

लोगों में डर का माहौल 

भांडुप से कंजूरमार्ग,पवई तक फैले  मनपा के एस वार्ड में मिलीजुली आबादी है.शुरु में भांडुप एवं कंजूरमार्ग इलाके में कोरोना का प्रभाव तेजी से फैला. बाद में इसका असर हाई राइज बिल्डिंगों एवं संभ्रांत सोसायटियों में दिखाई दिया.अब पवई कोरोना का हॉट स्पॉट बन रहा है जिसकी वजह से पवई एवं आस पास के क्षेत्र में रहने वालों में डर का माहौल है. 

मिल रहे कोरोना के मरीज

 मुंबई महानगर पालिका क्षेत्र में अब तक 68 हजार से अधिक कोरोना के मरीज मिले हैं.जिसमें अंधेरी एवं जोगेश्वरी पूर्व इलाकों में  4903 मरीजों के साथ के-पूर्व वार्ड नंबर वन पर बना हुआ है.धारावी वाला वार्ड जी-उत्तर 4581 मरीजों के साथ दूसरे नंबर पर है जबकि तीसरे नंबर वाले के-पश्चिम वार्ड में 4102 मरीज हैं.पी उत्तर वार्ड में कोरोना मरीजों की संख्या 3966 एवं पांचवें नंबर वाले एल वार्ड में कोरोना मरीजों की संख्या 3862 है. 3857 पॉजिटिव मरीजों के साथ मनपा का एस वार्ड 6 ठें स्थान पर है.

कोरोना मरीज बढ़ने की तीव्रता 2.9 प्रतिशत

 पवई एवं आस पास के इलाकों में बहुमंजिली इमारतें एवं घनी बस्ती वाली झोपड़पट्टियां है. भीड़भाड़ की वजह से सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करना मुंबई के दूसरे इलाकों की अपेक्षा मुश्किल है. लॉकडाउन शिथिल होने के बाद लोगों की आवाजाही बढ़ी है. मनपा की तरफ से अभी तक फेरीवालों को फुटपाथ पर व्यवसाय की अनुमति नहीं मिली है फिर भी पवई इलाके में सब्जी, फल व दूसरे सामानों के ठेले लग रहे हैं.इसका असर कोरोना संक्रमण पर पड़ रहा है. पवई, कंजूरमार्ग, भांडुप व आस पास के इलाकों में हर रोज मिलने वाले कोरोना मरीजों की संख्या घट नहीं रही है. पिछले 9 जून को एस वार्ड में कोरोना पॉजिटिव की संख्या 2440 थी, जो 17 जून को बढ़ कर 3180 हो गई और अब यह संख्या 3857 है. बुधवार 24 जून को एस वार्ड में 103 मरीज मिले जबकि मंगलवार को यह संख्या 77 एवं सोमवार को 90 थी. 19 जून को वार्ड में 146 नए कोरोना मरीज मिले थे. एस वार्ड में अब तक मिले 3857 कोरोना मरीजों में से 1601 ठीक हो चुके हैं जबकि 1756 का इलाज चल रहा है.कोरोना से 251 व्यक्तियों की मौत हुई है.मरीजों के बढ़ने का दर 2.9 प्रतिशत है.

कंट्रोल में है कोरोना

पवई एवं आस पास के इलाकों में कोरोना कंट्रोल में है. कुछ इलाकों में मरीज मिले हैं,संक्रमण न फैले इसके लिए मनपा कर्मचारी प्रयास कर रहे हैं. कांजूरमार्ग के कुछ इलाकों में लॉकडाउन को सख्त किया गया है.केवल जरूरी वस्तुओं की दुकानें ही खोलने की अनुमति दी गयी है. कोरोना रोकने लिए सभी को एहतियात बरतने की जरुरत है. सोशल डिस्टेंसिंग का पालन जरुरी है. – सुनील राउत, विधायक

संयुक्त प्रयास की जरुरत

मनपा के एस वार्ड में कोरोना रोकने को लेकर मनपा प्रशासन, पुलिस, जनप्रतिनिधियों एवं सामाजिक संस्थाओं के संयुक्त प्रयास की जरुरत है. पवई इलाका वायरस के संक्रमण से बचा हुआ था, लेकिन सार्वजनिक शौचालयों की साफ सफाई ठीक ढंग से नहीं हो पा रही है जिसकी वजह से एस वार्ड में कोरोना मरीजों की संख्या में इजाफा हुआ है.इसमें एक सबसे कारण पुलिस की कमी भी है, जिसकी वजह से लोग बगैर मास्क के लोग घूम रहे हैं.  – श्रीनिवास त्रिपाठी, नगरसेवक, बीजेपी

सभी के सहयोग से हारेगा कोरोना

पवई के कुछ इलाकों में कोरोना के मरीज मिले हैं.कोरोना के रोकथाम को लेकर सामाजिक संस्थाओं का सहयोग लिया जा रहा है.मनपा की तरफ से मिशन जीरो शुरु किया गया है. सभी के सहयोग से कोरोना को हराया जाएगा.

-वैशाली श्रीकांत पाटिल, नगरसेविका, बीजेपी 

सोशल डिस्टेंसिंग का पालन जरुरी

पवई में कोरोना के मरीज हर रोज मिल रहे हैं.इलाके में सोशल डिस्टेंसिंग का अनुपालन जरुरी है.सेनेटाइजेशन का काम नियमित रूप से किया जाना चाहिए, इससे संक्रमण को रोकने में मदद मिलेगी.लोग अपने घरों में ही रहने का प्रयास करें.

– चंदन शर्मा, पूर्व नगरसेवक