Jewelers arrested from Drug connection, Bhiwandi

मुंबई. मनी लॉन्ड्रिंग केस में प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने शिवसेना विधायक प्रताप सरनाईक के सबसे करीबी दोस्त अमित चंदोले को गिरफ्तार कर लिया है. यह गिरफ्तारी करीब 12 घंटे की पूछताछ के बाद बुधवार की रात को हुई. सूत्रों का कहना है कि एमएमआरडीए को सुरक्षा गार्ड मुहैया कराने का ठेका टॉप्स ग्रुप ने चंदोले की फर्म को दे दिया था. इस मामले में यह पहली गिरफ्तारी है. प्रवर्तन निदेशालय की टीम ने अमित चंदोले का गुरुवार को मेडिकल करवाया जिसके बाद पीएमएलए कोर्ट में पेश किया गया. उसे 29 नवंबर तक ईडी की कस्टडी में भेज दिया गया. दूसरी तरफ, प्रताप सरनाईक के दूसरे बेटे विहंग को गुरुवार दोपहर 11 बजे ईडी ऑफिस बुलाया गया था, लेकिन वह गुरुवार को दफ्तर नहीं पहुंचे.  

सूत्रों की मानें तो मामले की जांच में अमित चंदोले की संदेहास्पद भूमिका सामने आई है. चंदोले के नाम पर लंदन में खरीदी गई प्रॉपर्टी और इन्वेस्टमेंट को लेकर प्रताप सरनाईक और विहंग सरनाईक ईडी के संदेह के घेरे में है. इस बीच 175 करोड़ रुपये के मनी लॉन्ड्रिंग में पूछताछ के लिए तलब किए जाने के बाद शिवसेना विधायक प्रताप सरनाईक ने अपने आपको क्वारनटीन कर लिया है. ईडी ने मंगलवार को प्रताप सरनाईक के घर, दफ्तरों और उनके कारोबारी सहयोगियों समेत 10 ठिकानों पर छापा मारा था, जब वह गोवा में थे.

शिवसेना विधायक प्रताप सरनाईक ने अनुरोध किया है कि उन्हें और उनके व्यवसायी बेटों को एक साथ पूछताछ के लिए बुलाया जाए. उन्होंने यह भी कहा है कि उनकी बहू (विहंग की पत्नी) को हाई ब्लड प्रेशर के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया है. अपनी तमाम बातें रखने के बाद सरनाईक ने कहा कि वह एक सप्ताह के बाद ही ईडी की जांच में शामिल हो पाएंगे.

अमित चंदोले की गिरफ्तारी के बाद बीजेपी नेता किरीट सोमैया ने बताया कि मुंबई आर्थिक अपराध शाखा में एमएमआरडीए द्वारा दर्ज शिकायत के अनुसार टॉप्स सिक्योरिटी के मुख्य भागीदार अमित चंडोले ने एमएमआरडीए को सुरक्षा प्रदान करने के लिए एक बड़ा कॉन्ट्रैक्ट किया, जिसके लिए 100 करोड़ तो लिया, लेकिन कोई सुरक्षा प्रदान नहीं की.