sushant-singh-rajput-suicide-case-police-has-recorded-statements-of-27-people-in-this-case

–  अधिवक्ता आभा सिंह का खुलासा 

मुंबई. एक्टर सुशांत सिंह राजपूत के सुसाइड का विवाद थमने का नाम नहीं ले रहा है. क्राइम अधिवक्ता आभा सिंह ने कहा है कि सुशांत के संदेशों को पढ़ने से लगता है कि वे माजबूत इंसान थे. ऐसे में उनके अचानक खुदकुशी कर लेने से पूरा देश हैरान है. उन्होंने कहा कि सुशांत के कुछ करीबी लोगों ने उनसे संपर्क किया है. 

आभा ने कहा कि फिलहाल इस मामले की पुलिस जांच चल रही है. यदि इसमें न्याय नहीं होता है तो वे सुशांत के परिवार वालों की सहमति से कोर्ट में जनहित याचिका दायर करने की योजना बना रही हैं. 

यह सामान्य घटना नहीं 

आभा सिंह ने कहा कि सुशांत पॉजिटिव इंसान थे. वे बच्चों को इसरो और नासा में जाने के लिए प्रेरित करते थे. वे पर्यावरण की रक्षा के लिए हजारों पेड़ लगाना चाहते थे, लेकिन उनके साथ ऐसा क्या हुआ कि उन्हें यह दुनिया छोड़नी पड़ी.आभा ने कहा कि मुंबई पुलिस को इस सच्चाई का पता लगाना ही होगा. उन्होंने कहा कि वे कौन लोग थे, जिनकी वजह से सुशांत डिप्रेशन के शिकार हो गए. आभा ने कहा कि इस मामले में सुसाइड नोट नहीं मिलने से रहस्य और गहरा गया है. 

 यह सिलसिला थमना चाहिए 

आभा सिंह ने कहा कि यह बात किसी से छुपी नहीं है कि किस तरह बॉलीवुड पर कुछ चंद परिवारों का सालों से कब्ज़ा है.ऐसे में यहां बाहरी लोगों के  कामयाब होने पर उनके रास्ते में रोड़ा खड़ा किया जाता है.आभा ने कहा कि  फैक्ट्री और लेबर लॉ की तरह बॉलीवुड में कोई कानून क्यों नहीं है. क्यों कोई बैनर अपनी मर्जी से कॉन्ट्रैक्ट साइन करता है और फिर इसे तोड़ देता है. बॉलीवुड में चल रही इस तरह की दादागिरी पर लगाम लगाना जरुरी है.   

सुशांत दिला सकते थे पहला ऑस्कर 

एक्ट्रेस सेलिना जेटली ने कहा है कि सुशांत की तरह उन्होंने भी डिप्रेशन का सामना किया था. उन्होंने कहा कि सुशांत एक बेहद प्रतिभाशाली एक्टर थे. यह फिल्म  इंडस्ट्री के लिए एक बहुत बड़ा नुकसान है. सेलिना ने कहा कि ग्रेट टैलेंट जो शायद भविष्य में भारत के लिए पहला ऑस्कर भी जीत सकते थे. 

इन फिल्मों से धोना पड़ा हाथ  

ऐसे आरोप लग रहे हैं कि सुशांत को कई बड़ी फिल्मों से निकाल दिया गया था.वहीं कई फिल्मों में पहली पसंद होते हुए भी वे यशराज फिल्म्स के साथ हुए कॉन्ट्रैक्ट की वजह से काम नहीं कर पाए. इस वजह से उनका करियर उतना आगे नहीं बढ़ पाया, जिसकी वे उम्मीद कर रहे थे. सुशांत के हाथ से जो  बड़ी फ़िल्में निकल गई, उनमें  साल 2013 में रिलीज ‘आशिकी 2’ व  ‘राम-लीला’,  साल 2015 में रिलीज ‘बाजीराव मस्तानी’ के अलावा ‘ फितूर’, बेफिक्रे, हाफ गर्लफ्रेंड, रोमियो अकबर वॉल्टर, सड़क 2 शामिल हैं.  देश के पहले अन्तरिक्ष यात्री राकेश शर्मा पर बन रही फिल्म के लिए भी वे शाहरुख़ खान व विक्की कौशल के साथ प्रबल दावेदार थे.