प्रोफेसर बना ड्रग्स सप्लायर

सत्यप्रकाश सोनी

मुंबई. नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो (Narcotics Control Bureau) (एनसीबी)  की लगातार कार्रवाई ड्रग्स माफियों के खिलाफ मुंबई (Mumbai) और उसके आसपास के इलाकों में लगातार जारी है. एनसीबी (NCB) मुंबई के जोनल डायरेक्टर समीर वानखेड़े (Sameer Wankhede) की टीम ने नालासोपारा (Nalasopara) इलाके में छापेमारी कर एक बड़े ड्रग सप्लायर को गिरफ्तार (Arrested)  किया है जो पेशे से नाइजीरिया (Nigeria) की इमो स्टेट यूनिवर्सिटी (Emo State University) में बतौर प्रोफेसर (Professor) कार्यरत था. एनसीबी ने इसके पास से 10.2 ग्राम कोकीन, एक ब्लॉट एलएसडी बरामद किया है.

रकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो (Narcotics Control Bureau)  के सूत्रों के मुताबिक, यह बॉलीवुड में कोकीन की सप्लाई किया करता था. गिरफ्तार किए गए इस प्रोफेसर का नाम है नवागवू प्रिंसविल चीका. एनसीबी के जोनल डायरेक्टर समीर वानखेड़े ने ‘नवभारत’ से कहा कि यह 2017 में भारत में टूरिस्ट वीजा पर आया था और भारत आने के बाद इसने ड्रग्स का कारोबार शुरू कर दिया था. आरोपी चीका ने अपना ग्रेजुएशन नाइजीरिया से किया है और ये गोवर्नमेंट एजुकेशन विषय का विशेषज्ञ है, जहां यह इमो स्टेट यूनिवर्सिटी में लेक्चर्स लिया करता था.

 नालासोपारा से हुई गिरफ्तारी

समीर वानखेड़े जोनल डायरेक्टर एनसीबी मुंबई ने बताया कि चीका की गिरफ्तारी एक नए ड्रग केस में हुई है. एनसीबी को जानकारी मिली थी कि यह बॉलीवुड में बड़े पैमाने पर ड्रग्स की सप्लाई किया करता था, जिसके बाद इसे नालासोपारा इलाके से गिरफ्तार किया गया है. अब इसकी गिरफ्तारी के बाद बॉलीवुड में फैले ड्रग्स कनेक्शन के तार को खंगालने में एनसीबी जुट गई है. 

जांच में सहयोग नहीं कर रहा चीका

गिरफ्तार चीका हालांकि अब तक कि जांच में सहयोग नहीं कर रहा है. एनसीबी अधिकारी के मुताबिक नाइजीरियन प्रोफेसर को हिंदी भी आती है जो ड्रग्स की खरीद फरोख्त में काफी कारगर साबित होती है. यहां तक कि आरोपी चीका न ही अपना फोन का पासवर्ड साझा कर रहा और न ही जरूरी जानकारी बता रहा कि यह ड्रग्स कहां-कहां और किसे सप्लाई कर रहा था और बॉलीवुड में वो कौन-कौन से लोग है जो इसके संपर्क में थे.