Protest in the Legislature regarding Maratha reservation

उपमुख्यमंत्री अजीत पवार बोले, बीजेपी के पास  कोई मुद्दा नहीं

-लतिकेश शर्मा 

मुंबई. महाराष्ट्र विधानमंडल के दो दिवसीय शीतकालीन सत्र के पहले दिन सोमवार को  विरोधी दल बीजेपी ने मराठा आरक्षण के मुद्दे को लेकर जोरदार प्रदर्शन किया।विधानभवन की सीढ़ियों के सामने बीजेपी विधायकों ने हाथों में बैनर लेकर ठाकरे सरकार पर जम कर हमला बोला।विधान परिषद में नेता विपक्ष प्रवीण दरेकर ने कहा कि ठाकरे सरकार मराठा आरक्षण के मुद्दे पर पूरी तरह फेल हो गई है। उन्होंने कहा कि सुप्रीम कोर्ट में मराठा आरक्षण को बचाने में सरकार असफल साबित हुई है। इस वजह से मराठा समाज में काफी गुस्सा है।

सवालों से भाग रही सरकार:

दरेकर ने कहा कि ठाकरे सरकार किसानों और मराठा आरक्षण के सवालों से भाग रही है। उन्होंने कहा कि यही वजह है कि सिर्फ 2 दिनों का अधिवेशन बुलाया गया है। दरेकर ने कहा कि इन 2 दिनों में सभी विषयों पर चर्चा नहीं हो सकती है।

विपक्ष कर रही है दिशा भूल:

ठाकरे सरकार की तरफ उपमुख्यमंत्री अजीत पवार ने बीजेपी पर काउंटर अटैक किया।उन्होंने कहा कि बीजेपी के पास कोई मुद्दा नही है।इसलिए वह लोगों को दिशा भूल करने का प्रयास कर रही है।अजीत ने कहा कि हमारी सरकार सुप्रीम कोर्ट में मराठा आरक्षण को बचाने के लिए मजबूती से काम कर रही है।कैबिनेट मंत्री अशोक चव्हाण इस मामले पर अपनी नज़र बनाए हुए हैं।मामला सुप्रीम कोर्ट में है।ऐसे में हमें न्यायिक प्रक्रिया के तहत ही काम करना होगा ।उपमुख्यमंत्री पवार ने कहा कि किसानों को हरसंभव मदद पहुंचाने के लिए हमारी सरकार भरपूर प्रयास कर रही है।इस काम के लिए हमलोगों ने केंद्र की बीजेपी सरकार से मदद मांगी थीं,लेकिन हमें कोई सहायता नहीं मिली। माना जा रहा है कि इस दो दिवसीय सत्र में बीजेपी किसानों व कोरोना के मुद्दे को लेकर जोरदार हंगामा करेगी।