क्राइम ब्रांच  की गुटखा तस्कर के घर छापेमारी, 49 लाख नगद बरामद

– 5 लाख से अधिक का गुटखा भी जब्त

मुंबई. क्राइम ब्रांच एवं एफडीए ने संयुक्त रूप से मानखुर्द के मंडाला में गुटखा तस्कर के घर छापेमारी की. उसके घर से 49 लाख रुपए नगद बरामद हुआ. वह यह पैसे उत्तर प्रदेश स्थित अपने मूल गांव भेजने के फिराक में था. उसने कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने के लिए लगाए गए लाॅकडाउन के बाद से गुटखा की अधिक दाम पर बिक्री से लाखों रुपए बनाया था. क्राइम ब्रांच ने उसके घर से 5 लाख 51 हजार 700 रुपए का गुटखा भी जब्त किया है. इस मामले में आरोपी राकेश राजकुमार गुप्ता (28) को गिरफ्तार किया गया है.

क्राइम ब्रांच की युनिट-6 के प्रभारी पुलिस निरीक्षक दीपक चव्हाण को गुप्त सूचना मिली कि मानखुर्द के मंडाला स्थित इंदिरा नगर में गुटखा की बड़ी खेप आयी है. पुलिस ने इसकी सूचना फूड एंड ड्रग्स एडमिनिस्ट्रेशन (एफडीए) को दी गयी. संयुक्त पुलिस आयुक्त संतोष रस्तोगी एवं पुलिस उपायुक्त अकबर पठान  के मार्गदर्शन में क्राइम ब्रांच युनिट-6 के प्रभारी पुलिस निरीक्षक दीपक चव्हाण, पुलिस निरीक्षक चंद्रकांत दलवी, सहायक पुलिस निरीक्षक महेश तोरसकर, अनिल गायकवाड़, अर्चना कुदले और उप निरीक्षक इंदुलकर की टीम ने एफडीए के अधिकारियों के साथ संयुक्त रूप से मानखुर्द के मंडाला स्थित इंदिरा नगर में एक घर में छापेमारी की. उस घर से 5 लाख 51 हजार 700 रुपए का गुटखा बरामद हुआ.

लाखों रुपए की नकदी मिलने का अनुमान नहीं 

पुलिस ने गुटखा तस्कर राकेश राजकुमार गुप्ता को गिरफ्तार कर लिया. जब उससे पूछताछ और उसके घर की दुबारा तलाशी ली गयी, तो घर 49 लाख 14 हजार 876 रुपए नगद बरामद हुआ. क्राइम ब्रांच के अधिकारियों को गुप्ता के घर इतनी नगदी होने का अनुमान नहीं था.

लाॅकडाउन में डबल मुनाफा

उसने यह पैसे 23 अप्रैल को हुए संपूर्ण लाॅकडाउन के बाद से 19 जून तक गुटखा की बिक्री से बनाया था. उसने लाॅकडाउन से पहले गुटखा की बड़ी खेप ले आया था और लाॅकडाउन के बाद अधिक दाम में बेच कर डबल मुनाफा कमाया था.