Apply soon for recruitment in South East Central Railway

  • लाखों यात्रियों ने कराए टिकट कैंसिल

मुंबई. दिल्ली,अहमदाबाद  और मुंबई जैसे शहरों में कोरोना की दूसरी लहर की संभावना और नई शर्तों को देखते बड़ी संख्या में लोग लंबी दूरी की गाड़ियों में यात्रा टाल रहे हैं. कोरोना के चलते मध्य और पश्चिम रेलवे पर नवंबर माह में बड़ी संख्या में यात्रियों ने अपने टिकट कैंसिल कराए हैं. 

लॉकडाउन में 6 महीनों तक लंबी दूरी की अधिकांश ट्रेने बंद होने के बाद दशहरा-दीपावली के पहले रेलवे ने कई विशेष ट्रेनों को चलाने का निर्णय लिया. इस बीच फिर से दिल्ली,गुजरात,राजस्थान में कोरोना के मामले बढ़ने से लंबी दूरी की ट्रेनों पर असर पड़ा है. बताया गया है कि नवंबर माह में मध्य और पश्चिम रेलवे  पर टिकट कैंसिल कराने वालों की संख्या में काफी इजाफा हुआ है.

टिकट कैंसिल हो रहे

मध्य रेलवे के सीपीआरओ शिवाजी सुतार के अनुसार, अक्टूबर माह में औसत रूप से रोजाना 10 हजार के ऊपर टिकट कैंसिल हो रहे थे, जबकि नवंबर में रोजाना औसत 16,500 के ऊपर टिकट कैंसिल हुए हैं. इसी तरह वेस्टर्न रेलवे पर नवंबर में औसत रोजाना 16 हजार से ज्यादा टिकट कैंसिल किए गए, जबकि अक्टूबर में औसत 8023 टिकट रोजाना कैंसिल हुए थे .

रैपिड टेस्ट और किसान आंदोलन का असर

दिल्ली में कोरोना संक्रमण के अलावा पंजाब और राजस्थान में किसान आंदोलन का असर भी हुआ है, जिसके चलते बड़ी संख्या में यात्री ट्रेन यात्रा टाल रहे हैं. पश्चिम रेलवे के एक अधिकारी के अनुसार महाराष्ट्र सरकार ने भी दिल्ली,गुजरात,राजस्थान और गोवा से आने वाले यात्रियों के लिए कोविड टेस्ट अनिवार्य किये जाने का भी असर हुआ है. रैपिड टेस्ट में पॉजिटिव आने पर विलगीकरण और अस्पताल में भर्ती होने का डर यात्रियों को है . इसकी वजह से भी बड़ी संख्या में यात्रियों ने अपनी यात्रा कैंसिल की है.

मुंबई के स्टेशनों पर किया जा रहा रैपिड टेस्ट 

दिल्ली की तरफ से आने वाली ट्रेनों के यात्रियों का रैपिड टेस्ट मुंबई के स्टेशनों पर किया जा रहा है. इससे भी यात्रियों को परेशानी हो रही है. दिल्ली में अपने एक रिश्तेदार की शादी में जाने के लिए तैयार राजेश शर्मा ने कहा कि दिल्ली में भी कोरोना की जांच को देखते हुए उन्हें ऐन मौके पर टिकट कैंसिल कराना पड़ा. नवंबर में शादी-ब्याह का मौसम होने के बावजूद बड़ी संख्या में यात्रियों ने अपने टिकट कैंसिल कराए हैं ,हालांकि मध्य और पश्चिम रेलवे विशेष ट्रेनें चलाने और उन्हें विस्तारित किए जाने की घोषणा रोज कर रही है. रेल अधिकारियों के अनुसार दिल्ली ,पंजाब की तरफ  जाने वाली गाड़ियों में कम यात्री  हैं, जबकि यूपी -बिहार जाने-आने  वाली गाड़ियों में यात्रियों की संख्या दिखाई दे रही है.