Train
File Pic

    मुंबई. कोरोना की दूसरी लहर के कमजोर पड़ने के बाद अनलॉक (Unlock) की दिशा में बढ़ रही मुंबई (Mumbai) में एसी लोकल (AC Local) को बढ़ावा दिए जाने का प्लान रेलवे ने बनाया है। एसी लोकल को लेकर लोगों का मत जानने के लिए रेलवे ने एक फार्म जारी किया है। बताया गया है कि एसी लोकल की सेवाएं बढ़ाने से पहले रेलवे लोगों के बीच जाकर जानकारी इकट्ठा करना चाह रही है।  रेलवे एक सर्वे करा रही है, जिसके तहत रोजाना लोकल यात्रा करने वालों से जानकारी के साथ किस श्रेणी में यात्रा करते हैं, मासिक पास या टिकट से यात्रा करते हैं। इसकी जानकारी मांगी जा रही है। सर्वे में यह भी पूछा जा रहा है कि यदि यात्री मासिक पास या रोजाना टिकट पर यात्रा करते हैं तो एसी लोकल चलायी जाए तो क्या वे प्राइवेट वाहन या टैक्सी से एसी लोकल में यात्रा करना चाहेंगे। 

    यात्री के रूप में क्या लोग एसी लोकल से यात्रा करना पसंद करेंगे। एसी लोकल किन मार्गों पर प्राथमिकता के साथ चले इसके लिए भी राय मांगी गई है। इसके लिए पश्चिम व मध्य रेलवे के मुख्य उपनगरीय मार्ग का उल्लेख किया गया है। एसी लोकल को नॉर्मल लोकल के समय पर चलाने के संबंध में भी राय मांगी गई है।

    किराए पर भी राय

    एसी लोकल को लोकप्रिय एवं सुविधाजनक बनाने के लिए यात्रियों की राय के अलावा एसी लोकल के किराया संरचना में सुधार व  एसी लोकल का किराया प्रथम श्रेणी के कितना प्रतिशत ज्यादा होना चाहिए इसे लेकर भी सुझाव मांगा गया है। क्या एसी लोकल में भी प्रथम और द्वितीय श्रेणी की आवश्यकता व किराए पर भी रायशुमारी हो रही है। 50 शब्दों का सुझाव मांग गया है।

    2017 में शुरू हुई पहली एसी लोकल

    25 दिसंबर 2017 को पश्चिम रेलवे के चर्चगेट-विरार रूट पर पहली बार एसी लोकल ट्रेन चलाई गई। 12 डिब्बे वाली अत्याधुनिक सुविधाओं से लैस इस एसी लोकल से मुंबईकरों को कूल यात्रा का एहसास होता रहा है। लॉकडाउन के पहले चर्चगेट से विरार के बीच 20 से ज्यादा सेवाएं चलाई जाती हैं। यात्रियों का प्रतिसाद देखते हुए शनिवार और रविवार को भी एसी लोकल की सेवा शुरू की गई। एसी लोकल का किराया आम लोकल के फर्स्ट क्लास के किराये से 1.3 गुना ज्यादा है।  मध्य रेलवे के ट्रांस हार्बर पर 30 जनवरी 2020 से पहली एसी लोकल की 16 सर्विस शुरू हुई परंतु लॉकडाउन में उसे बंद कर दिया गया। 

    मध्य व पश्चिम रेलवे पर एसी लोकल सेवा बढ़ाने की योजना

    17 दिसम्बर 2020 को सेंट्रल रेलवे की मेन लाइन पर सीएसएमटी से डोम्बिवली  के बीच एसी लोकल की शुरुआत की गई। हालांकि फेरी कम होने से शुरू में एसी लोकल को लेकर यात्रियों का प्रतिसाद ठंडा था। लॉकडाउन में सेवा बंद कर दी गई। रेलवे के आधिकारिक सूत्रों के अनुसार मध्य व पश्चिम रेलवे पर एसी लोकल सेवा बढ़ाने की योजना है। हालांकि दोनों उपनगरीय मार्गों पर साधारण लोकल की 3100 से ज्यादा फेरियां होती हैं। यदि एसी लोकल बढ़ी तो आम लोकल की फेरियां कम होंगी। लॉकडाउन के पहले मुंबई लोकल से रोजाना 75 लाख से अधिक लोग यात्रा करते रहें हैं। एसी लोकल का किराया, समय आदि समस्या को देखते हुए एसी लोकल बढ़ाने के पहले  रेलवे ने पहले ही यात्रियों की राय जानने का मन बनाया है।