‘हीरोज ऑफ मुंबई’ को सलाम, माहिम स्टेशन की दीवारों पर कोरोना कर्म योद्धाओं के चित्र

मुंबई. पश्चिम रेलवे, स्टार्ट इंडिया फाउंडेशन और एशियन पेंट के सहयोग से मुंबई के फ्रंट लाइन नायकों के सम्मान में माहिम जंक्शन रेलवे स्टेशन को रंगीन भित्ति चित्रों से सजाया गया है. राष्ट्रव्यापी लॉकडाउन के दौरान  कोरोना से लड़ाई में अपनी जान जोखिम में डालकर अनेक लोगों ने इन विपरित परिस्थितियों का सामना किया है.इन कोरोना कर्मयोद्धाओं को सलाम करते हुए ‘मुंबई के हीरो’ शीर्षक के अंतर्गत भित्ति चित्रों से माहीम रेलवे स्टेशन के बाहरी हिस्से को सौंदर्यीकृत किया है.

भित्ति चित्रों में कोरोना से लड़ाई में कार्य करने वाले डॉक्टर,नर्स,पुलिस,सब्जी विक्रेता,डिलीवरी कर्मी और सफाई कर्मचारियों को प्रभावशाली शैली में चित्रित किया गया है.

धैर्य एवं साहस का परिचय दिया 

पश्चिम रेलवे के सीपीआरओ रविन्द्र भाकर के अनुसार देश के चिकित्सा क्षेत्र से जुड़े विविध व्यक्तियों, पुलिस और सुरक्षा बलों,रेल कर्मियों, हाउसकीपिंग और सैनिटाइजेशन वर्कर्स, दैनिक आवश्यकता एवं अत्यावश्यक वस्तुओं के विक्रेताओं ने कोरोना के खिलाफ जंग में धैर्य एवं साहस का परिचय दिया है.अत्यावश्यक सेवाएं  उपलब्ध कराने वाले कोरोना योद्धाओं के रूप में इन फ्रंटलाइन स्टाफ के प्रति आभार व्यक्त करने की दृष्टि से पश्चिम रेलवे ने माहिम रेलवे स्टेशन के बाहरी भाग का उपयोग किया.भित्ति चित्र स्टेशन के दोनों प्रवेश द्वार की दीवारों पर बनाये गये हैं.भाकर ने बताया कि  सीएसआर पहल के अंतर्गत इस अद्भुत कलाकृति के लिए ‘एशियन पेंट्स’ और एनजीओ स्टार्ट इंडिया को जोड़ा गया.उन्होंने कहा आगे भी पश्चिम रेलवे के विभिन्न उपनगरीय स्टेशनों पर इसी प्रकार के अभियान चलाए जाएंगे.

स्टेशन पर आधुनिक सुविधाएं

सीपीआरओ भाकर ने बताया कि इस ऐतिहासिक स्टेशन पर आधुनिक सुविधाएं विकसित करने के अलावा कई महत्वपूर्ण निर्माण कार्य किए गए हैं.10 मीटर चौड़े और लगभग 175 मीटर लम्बे एफओबी का निर्माण मुंबई रेल विकास निगम ने किया तथा 3.6 मीटर चौड़े और लगभग 80 मीटर लंबे स्काईवॉक का निर्माण किया गया,जिसे एमसीजीएम निर्मित एफओबी और दक्षिण में एमआरवीसी निर्मित एफओबी से जोड़ा गया है.माहिम स्टेशन की चहारदीवारी अत्यंत खराब और टूटी-फूटी स्थिति में थी, जिसकी पहले मरम्मत की गई और बाद में उसे पेंटिंग के लिए दे दिया गया. वर्तमान में माहिम स्टेशन पर कुल 4 एफओबी, 3 बुकिंग कार्यालय काउंटर और 1 पीआरएस काउंटर की व्यवस्था है.

कला को आम लोगों के बीच लाने का उद्देश्य

इन भित्ति चित्रों की डिज़ाइनिंग गुजराती स्ट्रीट आर्टिस्ट निकुंज प्रजापति ने की और 15 दिनों के  अंतराल में उस्ताद मुनीर बुखारी ने इसे जीवंत रूप प्रदान किया.रंग- बिरंगी पृष्ठभूमि वाली दीवार पर निकुंज प्रजापति की चित्रकारी अलग स्वरूप में हैं.चित्रित प्रत्येक व्यक्ति को अपने कार्य में अत्यंत मग्न दिखाया गया है.इसके पहले चर्चगेट स्टेशन के बाहरी हिस्से पर  महात्मा गांधी के विशाल एवं रंगीन भित्ति चित्र बनाने में स्टार्ट फाउंडेशन ने वेस्टर्न रेलवे की मदद की है.पब्लिक स्पेस में आर्ट प्रोजेक्ट के तौर पर अनूठी कलाकृतियां बनाने का उद्देश्य कला को परम्परागत गैलरी से आम लोगों के बीच लाना है. एशियन पेंट्स लिमिटेड के एमडी एवं सीईओ अमित सिंगल ने बताया कि माहिम जंक्शन पर “हीरोज़ ऑफ़ मुंबई” उन लोगों के प्रति कृतज्ञता व्यक्त करने का  बेहतर तरीका है,जिन्होंने इस संकट की घड़ी में दूसरों की सेवा और सुरक्षा में अपने आप को जोखिम में डाला है.