‘मेरा परिवार, मेरी जिम्मेदारी’ के तहत दूसरा सर्वे भी पूरा

  • 1.4 करोड़ मुंबईकर तक पहुंची बीएमसी

मुंबई. कोरोना मरीजों को खोजने के लिए चलाई गई मुहिम ‘मेरा परिवार, मेरी जिम्मेदारी’ का दूसरा राउंड भी पूरा हो गया है. दूसरे राउंड में मनपा 1 करोड़ 4 लाख 3 हजार 744 मुंबईकर तक पहुंची है.

राज्य में संदिग्ध कोरोना मरीजों को खोजने के लिए महाराष्ट्र सरकार ने ‘मेरा परिवार, मेरी जिम्मेदारी’ के तहत घर-घर जाकर लोगों की स्वास्थ्य जांच करने की मुहिम शुरू की. मुंबई में मनपा ने 10 सितंबर से ही मुंबईकरों के घर में दस्तक दी. पहले सर्वे में मनपा ने अक्टूबर के दूसरे साप्ताह तक 34.89 लाख घरों के 1.6 करोड़ लोगों की स्वास्थ्य जांच की थी. पहले सर्वे पूरा होते ही मनपा ने दुबारा मुंबईकरों तक पहुंचने का कार्य शुरू कर दिया. पहले राउंड में 99 प्रतिशत मुंबईकरों तक मनपा पहुंची थी. जबकि दूसरे राउंड में मनपा 33लाख 88 हजार 68 घरों के 1.4 करोड़ मुंबईकरों तक पहुंची. 

मनपा ने 5000 से अधिक टीम बनाई थी

इस सर्वे के लिए मनपा ने 5000 से अधिक टीम बनाई थी, जिसमें मनपा कर्मी, स्वास्थ्य अधिकारी और  आशाकर्मियों का सामवेश था. इस मुहिम के तहत मनपा के लोग घर-घर जा कर लोगों के ऑक्सीजन लेवल और बॉडी टेम्परेचर की जांच की. अतिरिक्त मनपा आयुक्त (स्वास्थ्य) सुरेश काकानी ने बताया कि हमने दूसरी बार का सर्वे भी पूरा कर लिया है. इस सर्वे में न केवल कोरोना बल्कि हमने सुगर, उच्च रक्तचाप, टीबी और अन्य बीमारी से जूझ रहे लोगों के बारे में भी जानने का प्रयास किया है. हमने सभी वार्डों को सूचित किया है कि वे मरीजों का अलग डाटा रखें ताकि भविष्य में हमें यह पता चले कि कौनसे वार्ड में किस बीमारी से लोग ज्यादा ग्रसित है. डाटा होने से हम संबंधित वार्ड में स्वास्थ्य सेवा को और भी सशक्त करने की योजना बना रहे हैं. पहले सर्वे का रिजल्ट आने वाले साप्ताह में आएगा.

सैंकड़ों घर अब भी बंद

सुरेश काकानी ने बताया कि सर्वे के समय सैंकड़ों मुंबईकरों के घर दूसरे राउंड में भी बंद मिले. सर्वे से जुड़े लोगों की माने तो अभी भी कुछ लोग अपने गांवों से लौटे नहीं है.