पश्चिम रेलवे पर दूसरी वेब कॉन्फ्रेंस, निजी फ्रेट टर्मिनलों की जीएम ने की समीक्षा

मुंबई. पश्चिम रेलवे के जीएम आलोक कंसल के मार्गदर्शन में निजी फ्रेट टर्मिनल की प्रगति की समीक्षा की गई. सरकार द्वारा अनलॉक 1.0 की घोषणा के बाद पश्चिम रेलवे ने 6 जून को वीडियो लिंक के माध्यम से अपनी पहली वेब काॅन्फ्रेंस फ्रेट ग्राहकों के साथ आयोजित की थी. इस श्रृंखला को जारी रखते हुए महाप्रबंधक आलोक कंसल की ओर से शुक्रवार को दूसरी वेब कॉन्फ्रेंस आयोजित की गई, जिसमें वर्तमान वित्तीय वर्ष 2020-2021 के लिए लक्षित पीएफटी और साइडिंग्स की प्रगति की समीक्षा के लिए प्राइवेट फ्रेट टर्मिनल-प्राइवेट साइडिंग ग्राहकों के प्रमुख शामिल हुए.

मुद्दों को हल करने के लिए विशेष पहल 

 पश्चिम रेलवे के सीपीआरओ रविन्द्र भाकर  के अनुसार यह वीडियो कॉन्फ्रेंस महाप्रबंधक कंसल द्वारा सभी हितधारकों को एक मंच पर लाने और वास्तविक समय के आधार पर मुद्दों को हल करने के लिए विशेष पहल थी. ऑनलाइन बैठक में इन पीएफटी और साइडिंग्स के शीर्ष अधिकारियों और सम्बंधित विभागों के प्रधान प्रमुखों ने पश्चिम रेलवे के अन्य वरिष्ठ अधिकारियों के साथ भाग लिया. बैठक में निर्धारित लक्ष्यों को पूरा करने के लिए एक उपयोगी चर्चा हुई.ऑनलाइन बैठक में प्लासर इंडिया,वंडर सीमेंट,कंटेनर कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया (CONCOR),गुजरात पिपावाव पोर्ट लिमिटेड, APSEZ और Aarya Ocean लॉजिस्टिक्स पार्क प्राइवेट लिमिटेड ने भाग लिया.

ऑनलाइन बैठक वर्तमान चुनौतीपूर्ण समय में काफी महत्वपूर्ण 

महाप्रबंधक आलोक कंसल ने इस बात पर ज़ोर दिया कि पश्चिम रेलवे के अधिकारी हमेशा उपलब्ध हैं, इसलिए परियोजना की प्रगति को प्रतिकूल रूप से प्रभावित करने वाले किसी भी  मुद्दे को उनके तुरंत ध्यान में लाया जा सकता है.न केवल रेलवे के लिए बल्कि अर्थव्यवस्था के लिए भी यह ऑनलाइन बैठक वर्तमान चुनौतीपूर्ण समय में काफी महत्वपूर्ण और रेलवे और निजी संस्थाओं दोनों के लिए लाभदायक साबित हुई.