वरिष्ठ आईपीएस अधिकारी जांच कराने की मांग

  • बीएमसी की लापरवाही से मेनहोल में गिर कर शीतल की मौत

मुंबई. बीएमसी की लापरवाही से घाटकोपर (प.) के असल्फा विलेज में रहने वाली 32 वर्षीय शीतल जितेश दामा की नाले के खुले मेनहोल में गिर कर मौत हो गयी. उनकी लाश नाले में बह कर हाजी अली समुद्र के किनारे मिली. बीजेपी के पूर्व सांसद किरिट सोमैया ने बुधवार को मुंबई पुलिस कमिश्नर परमबीर सिंह से मुलाकात की और शीतल की मौत मामले की जांच वरिष्ठ आईपीएस अधिकारी से करवाने और दोषियों पर कार्रवाई करने की मांग की. उस दौरान किरीट सोमैया के साथ शीतल के पति जितेश और उनके समाज के लोग भी मौजूद थे.

किरीट सोमैया ने मुंबई पुलिस कमिश्नर परमबीर सिंह से की मुलाकात

सोमैया ने कहा कि बीएमसी के जिन अधिकारियों और कर्मचारियों की लापरवाही से शीतल दामा की नाले के खुले मेन होल में गिर कर मौत हुई, उनके खिलाफ कड़ी कार्रवाई होनी चाहिए. इसको लेकर उन्होंने मृतक शीतल के पति जितेश दामा और उनके समाज के लोगों के साथ मुंबई पुलिस कमिश्नर परमबीर सिंह से मुलाकात की और उन्हें एक पत्र सौंपा. मुंबई पुलिस कमिश्नर से वरिष्ठ आईपीएस अधिकारी से पूरे मामले की जांच करवाने और दोषियों के खिलाफ कार्रवाई करने की मांग की गयी है. सोमैया का कहना है कि पुलिस कमिश्नर परमबीर सिंह ने उन्हें मामले की जांच करवाने का आश्वासन दिया है. उन्हें उम्मीद है कि बीएमसी के दोषी अधिकारियों और कर्मचारियों के खिलाफ कार्रवाई होगी.  

नाले के खुले मेन होल में गिर कर बह गयी

शनिवार की शाम 7 बजे हुई भारी बारिश के दौरान शीतल दामा चक्की से ऑटा लेकर घर आते समय नाले के खुले मेन होल में गिर कर बह गयी. 40 घंटे बाद उनकी लाश हाजी अली समुद्र के किनारे मिली थी. बीएमसी उपायुक्त ने नाले के मेन होल में गिरकर शीतल दामा के बह जाने और हाली अली समुद्र में लाश मिलने के मामले की जांच के आदेश दिए हैं. उन्होंने 15 दिनों में रिपोर्ट देने को कहा है.