Social distancing is not being followed, increasing crowd in local

    मुंबई. मुंबई (Mumbai) में कोरोना (Corona) के बढ़ते मामलों के बीच लोकल ट्रेनों (Local Trains) में भी भीड़ लगातार बढ़ रही है।    करीब 320 दिन बाद पिछली 1 फरवरी से आम लोगों के लिए निर्धारित समयानुसार लोकल ट्रेन शुरू की गई। इस समय आलम यह है कि रविवार की छुट्टी के बावजूद कोरोना लहर के मंडराते संकट के बीच भारी संख्या में  आम लोग लोकल यात्रा कर रहे हैं। 

    ज्यादातर उपनगरीय स्टेशनों (Suburban Stations) पर भारी भीड़ दिख रही है।  सबेरे-शाम के साथ दोपहर में भी लोकल ट्रेनों में लॉकडाउन के पहले जैसा नजारा दिखाई देने लगा है।

    सोशल डिसटेंसिंग मुश्किल

    मुंबई के रेलवे स्टेशनों पर फिर से लॉकडाउन (Lockdown) के पहले जैसी भीड़ दिख रही है। लोकल ट्रेनों में सोशल डिसटेंसिंग का पालन होता नजर नहीं आ रहा है, हालांकि ज्यदातर लोग मास्क पहने नजर आ रहे हैं। पश्चिम रेलवे के वसई, विरार,नालासोपारा, भायंदर, अंधेरी, बोरीवली स्टेशनों पर लोकल यात्रियों की भारी भीड़ हो रही है। इसी तरह मध्य रेलवे के सीएसएमटी, दादर, कल्याण, ठाणे, घाटकोपर, कुर्ला स्टेशनों पर यात्रियों की भारी  भीड़ हो रही है।

    बच्चे-बूढ़े भी कर रहे यात्रा

    आम लोगों को लोकल में इजाजत दिए जाने के बाद बच्चे और बूढ़े भी बड़ी संख्या में लोकल में यात्रा कर रहे हैं। पिछले कुछ दिनों से अचानक फिर से बढ़े कोरोना मामलों को देखते हुए सरकार ने बच्चों-बूढों को साथ लेकर  यात्रा न करने की अपील की है, परन्तु लोकल ट्रेनों में अपील का असर नहीं दिख रहा है। रविवार को मध्य और पश्चिम रेलवे के कई उपनगरीय स्टेशनों पर भारी भीड़ जमा थी। मध्य रेलवे पर मेगा ब्लॉक होने से रविवार को वैसे भी काफी भीड़ होती रही है। आम दिनों में भी आम लोगों के लिए सुबह 7 बजे तक, फिर दोपहर 12 बजे से शाम 4 बजे तक और रात 9  बजे से सेवा समाप्ति तक उपलब्ध कराई गईं हैं और इन समयों में लोकल में खचाखच भीड़ हो रही है।

    चल रही 2985 लोकल सर्विस

    मुम्बई उपनगर नेटवर्क पर 2,985 लोकल ट्रेन ही चल रही हैं , जो कुल सेवाओं का करीब 95 प्रतिशत है। लॉकडाउन से पहले सामान्य दिनों में मध्य रेलवे रोजाना 1,774 सेवाओं, जबकि पश्चिम रेलवे 1,367 सर्विस  का संचालन करती रही है। बताया गया है कि इस समय  50 लाख से ज्यादा लोग मुंबई लोकल से सफ़र कर रहे हैं।