कोरोना को नियंत्रित करने के साथ ही अर्थव्यवस्था को गति

– संजय कुमार ने संभाला राज्य के मुख्य सचिव का पदभार

मुंबई. राज्य के नए मुख्य सचिव संजय कुमार ने कहा है कि वे कोरोना की रोकथाम को लेकर शुरु उपाय योजनाओं का क्रियान्वयन और अधिक प्रभावी ढंग से करने के साथ ही अर्थव्यवस्था को गति देने का काम करेंगे. संजय कुमार ने मंगलवार को सेवानिवृत्त हो रहे मुख्य सचिव अजोय मेहता से पदभार ग्रहण किया. इस अवसर पर विभिन्न विभागों के अपर मुख्य सचिव, प्रधान सचिव, सचिव उपस्थित थे. 

  पदभार ग्रहण करने के बाद मुख्य सचिव संजय कुमार ने कहा कि पिछले चार महीने से राज्य का  प्रशासन कोरोना संकट का मुकाबला सफलतापूर्वक कर रहा है. कोरोना के प्रभाव को रोकने के लिए मुख्यमंत्री, उपमुख्यमंत्री के दिशा-निर्देश में शुरु  उपाय योजनाओं का क्रियान्वयन प्रभावी ढंग से किया जाएगा. राज्य की अर्थव्यवस्था को गति देने के लिए प्रयास करते हुए राज्य में खरीप की फसल के लिए जो योजना तैयार की गई है उसे मूर्त रुप दिया जाएगा.   

मुख्य सचिव संजय कुमार  वर्ष 1984 बैच के आईएएस अधिकारी हैं. पिछले 36 वर्ष के सेवाकाल में इन्होंने विभिन्न पदों पर रहकर रचनात्मक कार्य किया है. संजय कुमार की पहली पोस्टिंग वर्ष 1985 में अमरावती के सहायक जिलाधिकारी के रुप में हुई थी. उसके बाद बुलढाणा जिला परिषद के मुख्य कार्यकारी अधिकारी बनाए गए. बीड, उस्मानाबाद, औरंगाबाद के जिलाधिकारी के रुप में भी काम करने का अवसर इन्हें मिला है. वर्ष 1997 में संजय कुमार को तत्कालीन उपमुख्यमंत्री गोपीनाथ मुंडे का विशेष कार्य अधिकारी नियुक्त किया गया. उपमुख्यमंत्री कार्यालय में  सचिव, झोपडपट्टी पुर्नवसन प्राधिकरण के सदस्य सचिव सहित विभिन्न पदों पर कार्य करते हुए संजय कुमार मुख्य सचिव बने हैं.