Stalls and kiosks will open at Metro 2A and 7 stations, MMRDA issued tender for space

    मुंबई. हाल ही में ट्रायल रन (Trial run) के लिए खुली मेट्रो लाइन 2 एवं 7 के स्टेशनों पर स्टॉल्स व कियोस्क के लिए एमएमआरडीए (MMRDA) स्थान उपलब्ध कराएगा। मुंबई मेट्रोपॉलिटन रीजन डेवलपमेंट अथॉरिटी द्वारा विकसित किए जा रहे मेट्रो लाइन 2 ए (दहिसर से डीएन नगर) और 7 (दहिसर पूर्व-अंधेरी पूर्व) स्टेशनों पर गैर किराया राजस्व के तहत आय बढ़ाने की योजना है। 

    मेट्रो स्टेशनों (Metro Stations) पर खाली स्थानों का वाणिज्यिक उपयोग किया जाएगा। स्टॉल स्पेस के लिए लाइसेंस की अवधि 15 साल और कियोस्क के लिए 7 साल की होगी। इसके लिए इच्छुक एजेंसियों को आमंत्रित करने निविदा जारी की गई है। बिड जमा करने की अंतिम तिथि 14 जुलाई निर्धारित की गई है।

    गैर-किराया राजस्व का हिस्सा 

    एमएमआरडीए के वरिष्ठ अधिकारी के अनुसार,  मेट्रो स्टेशनों पर जगह किराए को लेकर एमएमआरडीए का लक्ष्य अतिरिक्त राजस्व अर्जित करना है, जो मेट्रो संचालन के लिए उपयोगी होगा। यह गैर-किराया राजस्व का हिस्सा होगा। उल्लेखनीय है किएमएमआरडीए ने  जनवरी 2022 तक मेट्रो लाइन 2 ए और 7 को पूरी तरह से खोलने का निर्णय लिया है। इससे पहले कामराज नगर और आरे के बीच 20 किमी की मेट्रो को इसी वर्ष अक्टूबर में शुरू करने की योजना है। 31 मई से ट्रायल रन की शुरुआत हो चुकी है। ट्रायल रन चार महीने जारी रहेगा। 

    5 लाख रुपये की बयाना राशि जमा करनी होगी

    बताया गया कि दोनों लाइन पर 93 प्रतिशत सिविल कार्य पूरा हो चुका है और अब सिस्टम का काम पूरी गति से चल रहा है। स्टेशनो पर स्टॉल व कियोस्क की जगह के लिए इच्छुक पार्टियों को बोली प्रक्रिया में भाग लेने के लिए 5 लाख रुपये की बयाना राशि जमा करनी होगी। एमएमआरडीए के अनुसार एक बार दोनों मेट्रो लाइनें खुलने पर वेस्टर्न एक्सप्रेस हाइवे और वेस्टर्न पर चलने वाली भीड़ काफी कम हो जाएगी। ट्रैफिक स्टडी के अनुसार लोकल ट्रेनों में यात्रा करने वालों में से कम से कम 12 प्रतिशत और डब्ल्यूईएच पर यात्रा करने वाले 25 प्रतिशत मोटर चालक मेट्रो 7 और 2 ए में शिफ्ट हो जाएंगे। दोनों मेट्रो लाइनों के निर्माण में एमएमआरडीए ने अब तक 6000 करोड़ रुपए खर्च किए हैं।