PTI Photo
PTI Photo

  • बीएमसी की स्पेशल टीम करेगी क्लबों की निगरानी

मुंबई. कोरोना काल में  गणेशोत्सव और दीपावली के समय पटाखा (crackers) फोड़ने पर लगाई गई पाबंदी आगे भी जारी रहेगी। नव वर्ष के स्वागत में भी मुंबईकर पटाखा नहीं फोड़ पाएंगे। बीएमसी (BMC) ने खुशी मनाने के लिए होने वाली आतिशबाजी पर रोक लगा दी है ।

बीएमसी अतिरिक्त आयुक्त सुरेश काकानी ने बताया कि नाइट क्लब और पब आदि में लोग सोशल डिस्टेंसिंग (Social Distancing) आदि का पालन नहीं कर रहे हैं। यहां तक कि लोग मास्क का भी उपयोग नहीं कर रहे हैं। जिस कारण से बीएमसी प्रशासन एक बार फिर क्रिसमस (Christmas) त्योहार और नए साल (New year) के स्वागत में सख्त रुख अपनाने का  निर्णय लिया है।

मनपा आयुक्त इकबाल सिंह चहल (Municipal Commissioner Iqbal Singh Chahal) ने कहा था कि लोग  छूट मिलने का गलत उपयोग कर रहे हैं। कोरोना महामारी (Corona epidemic) में थोड़ी सी लापरवाही की बहुत बड़ी कीमत चुकानी पड़ सकती है। जब तक कोविड की वैक्सीन (vaccine) नहीं आ जाती बीएमसी कोई  ढिलाई नही बरतना चाहती है। बीएमसी प्रशासन ने 25 दिसंबर को क्रिसमस और 31 दिसंबर मध्य रात्रि को नव वर्ष के स्वागत में उमड़ने वाली भारी भीड़ को देखते हुए गाइड लाइन तैयार की है।

बीएमसी ने दीपावली की तरह एक बार फिर लोगों से आव्हान किया है कि नए साल स्वागत  के उत्साह में पटाखे नहीं फोड़ें। दीपावली के समय भी पाटखे फोड़ने की अनुमति सिर्फ लक्ष्मी पूजन के समय दी गई थी। उसमें भी सार्वजनिक स्थानों पर पटाखा फोड़ने पर प्रतिबंध लगाया गया था।

पब और नाइट क्लबों  पर होगी पैनी नजर

मनपा ने दो दिन पूर्व लोअर परेल और बांद्रा में जिस तरह नाइट क्लब में नियमों की धज्जियां उड़ रही थी, उसका संज्ञान लेते हुए 31 दिसंबर के दिन नाइट क्लब और पब में लोगों की भीड़ रोकने के लिए एक्शन प्लान तैयार किया है। निगरानी के लिए विशेष टीम तैनात करने का निर्णय लिया है।

31 दिसंबर तक राज्य सरकार की ओर से जो भी गाइड लाइन आएगी उसका कठोरता से पालन करना अनिवार्य किया जाएगा। मनपा की विशेष टीम पुलिस के साथ मिलकर कठोरता से नियमों का अनुपालन करने के लिए पब मालिकों और नाइट क्लब मालिकों को बाध्य करेगी। बीएमसी हेल्थ विभाग की टीम दमकल विभाग और सुरक्षा रक्षक सहित क्लीनअप मार्शल की टीमों को उन विशेष जगहों पर तैनात किया जाएगा जहां भीड़ जमा होने की संभावना रहती है।