आरे में मेट्रो भवन का सर्वे शुरू, पर्यावरणविदों ने किया विरोध

मुंबई. मेट्रो-3 भूमिगत मार्ग को हटाने के निर्णय का निर्णय कर अपनी पीठ थपथपाने वाले शिवसेना नेता  अब इस निर्णय से पर्यावरणविदों के निशाने पर आ गए हैं. यही पर्यावरण रक्षकों ने शिवसेना के इस निर्णय की भूरि-भूरि प्रशंसा करते नहीं थक रहे थे. अब आरे में मेट्रो भवन बनाने के लिए शुरु किए सर्वे का विरोध कर रहे हैं. गोरेगांव के आरे में मेट्रो-3 कारशेड बनाने के 2700 पेड़ों को काट दिया गया था. पेड़ों की कटाई का विरोध कर रहे आरे के आदिवासियों और पर्यावरण रक्षकों के समर्थन में शिवसेना भी कूद गई थी. अकेले विधानसभा चुनाव लड़ रही शिवसेना के हाथ बीजेपी के खिलाफ बड़ा मुद्दा हाथ लग गया था.  महाविकास अघाड़ी सरकार के गठन के बाद सरकार का पहला निर्णय आरे मेट्रो कारशेड के स्थगन को लेकर आया था. हालांकि सरकार ने चुनाव पूर्व  किए गए अपने वादे को निभाते हुए कारशेड को आरे से हटाकर कंजूरमार्ग में बनाने का आदेश जारी किया है.  

आरे में मेट्रो कारशेड के साथ मेट्रो भवन भी बनाया जाना था. वहीं, से  एमएमआर में बन रही सभी मेट्रो  लाइनों को संचालित किया जाना था. कारशेड तो हट गया, लेकिन मेट्रो भवन को शिफ्ट करने का कोई निर्णय नहीं लिया गया है. अब सूचना है कि सरकार ने आरे में मेट्रो भवन बनाने के लिए एमएमआरडीए को हरी झंडी दे दी है. एमएमआरडीए की तरफ मेट्रो भवन के लिए सर्वे भी शुरु कर दिया है जिसका विरोध भी शुरु हो गया है. ‘आरे बचाओ आंदोलन’ के सदस्य जोरु बथेना ने कहा कि एक तरफ आरे को रिजर्व फॉरेस्ट घोषित कर प्रोटेक्शन दिया गया दूसरी तरफ  प्रोटेक्टेड क्षेत्र में मेट्रो भवन के लिए सर्वे भी किया जा रहा है. उन्होंने कहा कि आरे में अवैध निर्माण बंद किया जाना चाहिए. 

मेट्रो भवन

आरे के 1,14,088 वर्ग मीटर जमीन 2.03  हेक्टेयर जमीन पर मेट्रो भवन का निर्माण किया जाना है.  प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी मेट्रो भवन के लिए पहले ही शिलान्यास कर चुके हैं. मेट्रो भवन की इमारत 32 मंजिला यानी 132 मीटर उंची होगी जहां 337 वर्ग किलोमीटर के दायरे वाले एमएमआर में चलने वाली विभिन्न मेट्रो परियोजनाओं पर नजर रखी जाएगी. निर्माण के बाद 24,293 वर्ग मीटर जगह संचालन और  नियंत्रण केंद्र के लिए  9,624 वर्ग मीटर जगह मेट्रो प्रशिक्षण के लिए और 80,171 वर्ग मीटर जमीन सिम्युलेटर्स व मेट्रो से संबंधित यांत्रिकी कार्यालय के लिए निर्धारित की गई है.