अस्पतालों में बेड की कमी नहीं, ICU, वेंटिलेटर, ऑक्सीजन के बेड हैं खाली

– कोरोना मरीजों को राहत

मुंबई. मुंबई में कोरोना मरीजों की  संख्या में गिरावट आई है. मरीज कम होने से अस्पतालों, डेडिकेटेड कोविड अस्पताल, कोराना केयर सेंटर-2 में  आईसीयू , वेंटीलेटर और ऑक्सीजन बेड भी पर्याप्त संख्या में उपलब्ध हैं. 15 दिन पहले तक आईसीयू और वेंटिलेटर बेड की उपलब्धता नगण्य थी, लेकिन अब आईसीयू बेड भी उपलब्ध हैं.

हालांकि वेंटिलेटर बेड की संख्या अब भी कम ही है.  मुंबई में कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या 66,488  हो गई है. इनमें से 33,419  मरीज ठीक हो चुके हैं और 3671 मरीजों की मौत हुई है. 29,318 एक्टटिव मरीज हैं. 

एनएससीआई में कंटेनर आईसीयू बेड

मुंबई के वर्ली स्थित एनएससीआई डोम में बनाए गए कोविड सेंटर में सोमवार को 2 कंटेनर आईसीयू बेड का लोकार्पण पर्यावरण मंत्री आदित्य ठाकरे ने किया. भारत में कंटेनर माड्यूलर आईसीयू यूनिट को पहली बार लांच किया गया है. आदित्य ठाकरे ने कहा कि बीएमसी की तरफ से यह सुविधा पहली बार उपलब्ध कराई गई है. आईसीयू में भर्ती मरीज को डॉक्टर बाहर से ही रिमोट कंट्रोल की सहायता से उपचार कर सकते हैं. मरीज के संपर्क में आये बिना डॉक्टर उपचार कर सकते हैं. कंटेनर में 20×10 फुट की जगह है. जिसमें दो आईसीयू बेड की सुविधा है. ठाकरे ने कहा कि यह सुविधा जल्द ही दूसरी जगह भी शुरु की जाएगी.

1000 क्रिटिकल मरीज अस्पतालों में भर्ती

मुंबई में करीब 1000 क्रिटिकल मरीज अस्पतालों में भर्ती हैं. कोराना संक्रमित गंभीर मरीजों को आईसीयू और वेंटिलेटर बेड की सख्त जरूरत होती है क्योंकि कोराना से श्वास नली ब्लाक हो जाती है और मरीज को सांस लेने में दिक्कत होती है. अस्पताल में भर्ती ऐसे क्रिटिकल मरीजों को लंबे समय तक अस्पताल में रहना पड़ता है इसलिए जल्दी बेड खाली नहीं होते हैं. बीएमसी लगातार बेड की संख्या बढ़ाने का प्रयास कर रही है. 

मुंबई में बेड को 6 केटेगरी में बांटा गया 

बीएमसी की तरफ से उपल्बध कराए गए बेड के आंकड़े ऑनलाइन भी देखे जा सकते हैं. बेड उपलब्धता के बाद भी मरीजों को बेड के लिए पापड़ बेलने पड़ रहे हैं.  बीएमसी ने कोविड बेड के लिए हेल्पलाइन नंबर 1916  को सभी वार्डों में बने कोराना वार रुम से जोड़ा है. यहां फोन करने पर सीधे फोन लाईन वार्ड में जोड़ी जाती है. मरीज को पूरा डिटेल देने के बाद भी घंटों इंतजार करना पड़ रहा है. बीएमसी ने दावा किया था कि एक क्लिक पर किस अस्पताल में बेड रिक्त है पता चल जाएगा लेकिन अब भी मरीजों को कहा जा रहा है कि अस्पताल से पूछ कर बताना पड़ेगा कि बेड खाली है या नहीं. इस सुविधा में अभी सुधार करने की जरूरत है.  खासकर नाँन कोविड मरीजों को बेड मिलने में परेशानी हो रही है. नॉन कोविड मरीजों को कहा जा रहा है कि यह सुविधा केवल कोविड मरीज के लिए है. मुंबई में बेड को 6 केटेगरी में बांटा गया है जानिए कि किसमें कितने बेड पर मरीज हैं और कितने उपलब्ध हैं. 

कोविड बेड क्षमता   28,334

बेड कब्जा              12,271

उपलब्ध                     6163

डीसीएच- डीसीएचसी बेड

बेड क्षमता              11,891

बेड कब्जा                9,331

सीसीसी-2 बेड

बेड क्षमता             6,543 

बेड कब्जा            2,940

उपलब्ध               3,603

आईसीयू बेड

बेड क्षमता        1258

बेड कब्जा        1186

उपलब्ध             072

 आँक्सीजन बेड

बेड क्षमता         7,336

बेड कब्जा         5,010

उपलब्ध            1266

वेंटिलेटर बेड

बेड क्षमता         724

बेड कब्जा         699

उपलब्ध             35