उद्धव ने मांगा पीएम मोदी का साथ

– अंतिम वर्ष की परीक्षा रद्द करने चाहिए समर्थन 

मुंबई. मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने पेशेवर और गैर-पेशेवर दोनों पाठ्यक्रमों के अंतिम वर्ष और फाइनल सेमेस्टर की परीक्षा रद्द करने के फैसले पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का समर्थन मांगा है. उन्होंने पत्र लिख कर पीएम मोदी से अनुरोध किया है कि इस बारे में वे एआईसीटीई, सीओए, पीसीआई, बीसीआई, एनसीटीई और नेशनल काउंसिल फॉर होटल मैनेजमेंट एंड कैटरिंग टेक्नोलॉजी जैसे राष्ट्रीय स्तर के शीर्ष संस्थानों के अधिकारियों को निर्देश देंं, ताकि महाराष्ट्र सरकार के फैसले को अमलीजामा पहनाया जा सके.मुख्यमंत्री ने इस बारे में पीएम से विश्वविद्यालयों को निर्देश जारी करने की अपील की है. 

सीएम ठाकरे ने अपने पत्र में लिखा है कि कोरोना संकट की वजह से इन परीक्षाओं को आयोजित करना संभव नहीं है. इस वजह से राज्य सरकार ने पेशेवर और गैर-पेशेवर दोनों पाठ्यक्रमों के अंतिम वर्ष और अंतिम सेमेस्टर की परीक्षा आयोजित नहीं करने का फैसला किया है. सरकार ने छात्रों को आश्वासन दिया है कि विश्वविद्यालयों द्वारा तय किए गए फार्मूले के आधार पर उन्हें डिग्री प्रदान की जाएगी. 

राज्यपाल ने जताई थी आपत्ति 

अंतिम वर्ष की परीक्षा रद्द किए जाने पर महाराष्ट्र के राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी कई बार आपत्ति जता चुके हैं. उनका कहना है कि बिना परीक्षा के डिग्री देने से छात्रों के भविष्य पर असर पड़ सकता है. ऐसे में सीएम ठाकरे ने अब इस मुद्दे पर सीधे पीएम मोदी से समर्थन मांगा है.