एमएमआर में अघोषित सख्त लॉकडाउन, मुंबई इंट्री पॉइंट पर वाहनों की लंबी कतार

मुंबई. राज्य भर में अनलॉक- 01 घोषित होने के बाद मुंबई सहित एमएमआर में कोरोना के बढ़ते मामलों की वजह से प्रशासन बैकफुट पर आ गया है. कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए फिर से अघोषित सख्त लॉकडाउन किए जाने से अजीबोगरीब स्थिति बन गई है. सोमवार को ठाणे-मुंबई की सीमाओं पर वाहनों की कई किलोमीटर लंबी लाइन लग गई. मुंबई आने वाले वाहनों की जांच कर केवल अत्यावश्यक सेवा में लगे लोगों को ही आने-जाने की इजाजत दी गई.

 लोग हुए परेशान

इस दौरान ईस्टर्न-वेस्टर्न एक्सप्रेस हाइवे, दहिसर चेकनाका, ठाणे के घोडबंदर रोड, मुलुंड टोल नाका, वाशी टोल नाका इन मुंबई इंट्री पॉइंट पर हजारों वाहनों को चेक कर छोड़ा जा रहा था. लंबी लाइन लगने से लोग परेशान हो गए. भारी ट्रैफिक जाम की वजह कई स्थानों पर रोगियों को ले जा रहीं एम्बुलेंस भी फंस गई. सोमवार को काम के लिए अपने वाहनों से निकले सैकड़ों लोगों पर कार्रवाई की गई.

सैकड़ों वाहनों को जब्त किया गया

घोडबंदर, दहिसर, मुलुंड चेक नाकों पर सैकड़ों वाहनों को जब्त किया गया.अनलॉक 01 के कारण मुंबई में कई निजी कार्यालय, व्यवसायिक प्रतिष्ठान खुल गए हैं, ऐसे में सोमवार को निजी कार्यालयों में जाने वालों को भी रोका गया. बीकेसी स्थिति ऑफिस पर मोटरसाइकिल से जा रहे रमेश पटेल और जयंत पटेल को रोक कर पुलिस ने उनकी बाइक जब्त कर ली.रमेश पटेल ने हैरान होकर कहा कि उनका साथी भी उनके ही ऑफिस में काम करता है, इसलिए दोनों साथ जा रहे थे. पटेल ने कहा कि 3 महीने से उन्हें वेतन भी नहीं मिल रहा है, अब गाड़ी छुड़ाने के लिए पैसा कहां से लाएं.जब रोकना ही था तो ऑफिस खोलने की इजाजत क्यों दी गई. पुलिस जांच और भारी ट्रैफिक में फंसे संकेत सावंत ने कहा कि या तो खोलो या पूरा बंद करने का निर्णय लो.

हॉट स्पॉट क्षेत्र में सख्त हुआ प्रशासन

मुंबई महानगर रीजन (एमएमआर) में अचानक कोरोना मामलों में तेजी से बढ़ोतरी के बाद एक बार फिर कम से कम 7-8 दिनों के लिए सख्त लॉकडाउन का निर्णय स्थानीय प्रशासन ने लिया है. ठाणे, नवी मुंबई, भिवंडी, कल्याण-डोंबिवली, पश्चिमी उपनगर मीरा-भायंदर, वसई-विरार इधर उल्हासनगर मनपा, अंबरनाथ नपा क्षेत्र में कोरोना का संक्रमण को रोकने के लिए सोमवार को फिर पालकमंत्री की अध्यक्षता में जिलाधिकारी व अन्य वरिष्ठ अधिकारियों की बैठक की गई. ठाणे जिले के पालकमंत्री एकनाथ शिंदे ने कहा कि लॉकडाउन शिथिल किए जाने के बाद एमएमआर में अचानक रोगी बढ़ रहे हैं, इसलिए हॉटस्पॉट इलाकों की पहचान कर वहां पूर्ण लॉकडाउन की प्रक्रिया का पालन करना जरूरी है.

प्रभागवार स्वघोषित लॉकडाउन

एमएमआर को कोरोना हॉटस्पॉट इलाकों में स्थानीय नगरसेवकों, जनप्रतिनिधियों की मदद से प्रभागवार सख्त लॉकडाउन का पालन करने का निर्णय लिया गया है. राशन, दवाई, दूध,सब्जी जैसी अत्यावश्यक सेवा को छोड़कर अन्य सभी सेवाएं बंद किए जाने का निर्णय लिया गया है. ठाणे, मीरा-भायंदर, भिवंडी, नवी मुंबई, कल्याण मनपा के कुछ क्षेत्रों में स्वघोषित लॉकडाउन के लिए स्थानीय लोगों की मदद मनपा व पुलिस प्रशासन ले रहा है. पुलिस ने अत्यावश्यक सेवा को छोड़ कर 2 किमी परिसीमा से बाहर जाने वाले का वाहनों को जब्त करना शुरू कर दिया है. रिक्शा-टैक्सी जैसे वाहनों के चलने पर भी रोक लगाई जा रही है. एक जिले से दूसरे जिले में जाने के लिए एसटी और अन्य वाहनों पर रोक लगी हुई है.