Amid rising corona cases in Mumbai, BMC said - City mortality rate of 0.03 percent
File

    मुंबई. कोरोना के केस कम होने के बाद अनलॉक-2 (Unlock-2) में सोमवार से मुंबईकरों (Mumbaikars) को कोरोना प्रतिबंधों से और अधिक छूट मिलने की संभावना के बीच बीएमसी कमिश्नर इकबाल सिंह चहल (BMC Commissioner Iqbal Singh Chahal) ने सर्कुलर (circular) जारी कर कहा है कि प्रतिबंधों में अगले आदेश तक कोई ढील नहीं दी जाएगी। फिलहाल मुंबई लेवल-3  में है। लेवल-2 में आने के लिए मुंबई में रोजाना कोरोना केसेस 100 से 200 के बीच आने चाहिए, जिसके बाद मुंबई लेवल-2 में आएगी। तब तक मुंबई लेवल-3 के प्रतिबधों में ही रहेगी।  

    कमिश्नर ने बताया कि अभी हमारे पास प्रति दिन लगभग 700-800 कोरोना के मामले मिल हैं, हम मुंबई में अनलॉक करने के लिए बहुत सतर्क और वर्गीकृत दृष्टिकोण अपना रहे हैं, ताकि हमें लॉकडाउन में वापस न जाना पड़े। हम जून के अंतिम सप्ताह तक स्थिति की बारीकी से निगरानी करेंगे और प्रतिबंधों में और ढील देने पर निर्णय लेंगे।

    और फिर फैसला करेंगे : कमिश्नर

    प्रतिबंध लेवल-1 से 5 केवल सांकेतिक हैं। हम केवल 2 स्तर के प्रतिबंधों में ढील देंगे, जब मामले लगातार 100 से 200 प्रति दिन तक गिरेंगे। जून के अंतिम सप्ताह में हम देखेंगे कि स्थिति कैसी होती है और फिर फैसला करेंगे, हमें फू़क-फूंक कर कदम रख रहे हैं। 

    लेवल-2 में आने पर ऐसे होगी अनलॉक की प्रक्रिया

    जून आखिर में कोरोना के केस कम होने की संभावना है। यदि मुंबई लेवल-2 में आती है तो  जून के अंतिम सप्ताह से मुंबई में मॉल्स, थिएटर 50 प्रतिशत क्षमता के साथ और सरकारी दफ्तरों में कर्मचारियों की 100% उपस्थिति के आदेश जारी हो सकते हैं। शुक्रवार को राज्य सरकार द्वारा जारी आंकड़ों के अनुसार, मुंबई कोरोना के लेवल-3 से लेवल-2 में आ गई है। मुंबई को लेवल-2 में घोषित करने का अंतिम निर्णय बीएमसी कमिश्नर आईएस चहल करेंगे।

     मुंबई की पॉजीटिविटी रेट 4.40 फीसदी रही

    राज्य सरकार ने 4 जून से 10 जून के बीच का आंकड़ा जारी किया है, जिसके मुताबिक मुंबई में इस दौरान 2 लाख 69 हजार 659 लोगों का टेस्ट किया गया। जिसमें से 11 हजार 878 लोग पॉजिटिव पाए गए। इस तरह मुंबई की पॉजीटिविटी रेट 4.40 फीसदी रही। मुंबई में 12593 ऑक्सीजन बेड में से 9177 बेड खाली हैं, जबकि 3416 ऑक्सीजन बेड पर मरीजों का इलाज हो रहा है। सरकार की शर्तों के मुताबिक, लेवल-2 में आने के लिए पॉजीटिविटी रेट 5% से कम व ऑक्यूपाइड ऑक्सीजन बेड की संख्या 25 से 40 प्रतिशत के बीच होनी चाहिए। 5 जून को जारी आंकड़ों के अनुसार मुंबई में कोरोना का पॉजीटिविटी रेट 5.56 प्रतिशत से ज्यादा था और 32.51 प्रतिशत ऑक्सीजन बेड मरीजों का इलाज हो रहा था। इसलिए आईएस चहल ने मुंबई को लेवल-3 में रखा था और उसी के तहत मुंबई अनलॉक की प्रक्रिया शुरु हुई थी। लेवल-2 में आने के बाद मुंबईकरों को और भी छूट दी जा सकती है, जिसमें महिलाओं के लोकल में सफर की अनुमति भी शामिल है। इस पर जल्द ही बीएमसी कमिश्नर चहल निर्णय ले सकते हैं। सरकार ने अपने आदेश में कहा है कि पॉजीटिविटी रेट और ऑक्सीजन बेड की उपलब्धता के अनुसार स्थानीय डिजास्टर मैनेजमेंट अपने क्षेत्र में छूट देने के संदर्भ में लेवल तय कर सकते हैं तथा 14 जून से उसे लागू कर सकते हैं। फिलहाल स्थानीय निकायों पर निर्भर है कि वे अनलॉक कैसे करते हैं।

    लेवल-2 में आने से यह मिलेगी छूट

    • लेवल-3 से लेवल-2 में आने पर आवश्यक वस्तुओं की दुकानें लगातार खोली जा सकती हैं। 
    • गैर आवश्यक सेवा की दुकानें भी खुल सकती हैं।
    • मॉल्स, थिएटर व नाट्यगृह- 50 प्रतिशत क्षमता के साथ
    •  रेस्टोरेंट- 50 प्रतिशत क्षमता के साथ
    • लोकल ट्रेन- सिर्फ मेडिकल व अत्यावश्यक सेवा के कर्मचारियों के लिए, महिलाओं के सफर पर बीएमसी लेगी निर्णय
    • पब्लिक प्लेस, गार्डन, वॉकिंग व साइकिलिंग रेग्युलर
    • प्राइवेट ऑफिस- पूरी क्षमता के साथ
    • सरकारी ऑफिस- 100 प्रतिशत कर्मचारियों के साथ
    • स्पोर्ट्स- सुबह 5 बजे से 9 बजे तक, शाम 5 बजे से 9 बजे तक इंडोर गेम्स, आउटडोर सभी दिन
    • शूटिंग- रेग्युलर
    • सामाजिक, सांस्कृतिक व मनोरंजन- 50 प्रतिशत क्षमता के साथ 
    • शादी समारोह- हॉल की क्षमता का 50 %, अधिकतम 100 लोगों के शामिल होने की अनुमति
    • अंतिम संस्कार- रेग्युलर
    • मीटिंग – 50 प्रतिशत क्षमता के साथ
    • कंस्ट्रक्शन- रेग्युलर
    • एग्रिकल्चर- रेग्युलर
    • ई कामर्स- रेग्युलर
    • जिम, सैलून, स्पा, ब्यूटीपार्लर, वेलनेस सेंटर- 50 प्रतिशत क्षमता के साथ केवल अपॉइंटमेंट के साथ 
    • पब्लिक ट्रांसपोर्ट- शत प्रतिशत, लेकिन खड़े होकर सफर की अनुमति नहीं मिल सकती है।