Water vending machines are closed in full heat, IRCTC cancels contract

    मुंबई. रेलवे स्टेशनों (Railway Stations) पर यात्रियों को आरओ (RO) का शुद्ध ठंडा पानी उपलब्ध कराने के लिए शुरू की गईं वाटर वेंडिंग मशीनों (Water Vending Machines) के स्टॉल (Stall) बंद (Close) हो गए हैं। इस समय भरी गर्मी में विभिन्न उपनगरीय स्टेशनों पर लगी वाटर वेंडिंग मशीनें बंद पड़ी हुई हैं। यात्रियों को 5 रूपए प्रति लीटर शुद्ध पेयजल उपलब्ध कराने के लिए आईआरसीटीसी (IRCTC) के माध्यम से निजी कंपनी के साथ समझौता किया गया था। इसके एवज में रेलवे को डिपोजिट एवं लाइसेंस फी आदि के माध्यम से आय भी होनी थी। 

    कोरोना के चलते लॉकडाउन के समय में वाटर वेंडिंग स्टॉल भी बंद हो गए। लॉकडाउन के बाद जब लोकल सहित अन्य ट्रेनों के शुरू होने पर यात्रियों की आवाजाही बढ़ गई, परंतु वाटर वेंडिंग स्टॉल नहीं खुले। पता चला कि वाटर वेंडिंग स्टॉल चलाने वाली कंपनी ने  बकाया राशि एवं लाइसेंस फी भी अदा नहीं की। इस मामले में आईआरसीटीसी ने मुंबई में वाटर वेंडिंग मशीनें लगा कर उसे ऑपरेट करने वाली अर्थ वाटर लिमिटेड कंपनी का ठेका रद्द कर उसे 30 दिन की नोटिस भी जारी की है। 

    दूसरी कंपनी से करार की प्रक्रिया शुरू 

    आईआरसीटीसी ने ई-आक्शन के जरिए किसी दूसरी कंपनी से करार की प्रक्रिया शुरू की है। वैसे रेलवे स्टेशनों पर आईआरसीटीसी के ‘रेल नीर’ ब्रांड के बोतलबंद  पानी की भारी मांग है, इसके बावजूद प्लेटफार्म पर सस्ते में शुद्ध पेय जल उपलब्ध कराने के लिए निजी कंपनी के माध्यम से वाटर वेंडिंग मशीनें शुरू की गईं। इन स्टॉल से यात्रियों को 300 एमएल से लेकर 5 लीटर तक पानी उपलब्ध कराया जाता था। इस समय लगभग सभी स्टेशनों पर डब्लूवीएम स्टॉल बंद नजर आ रहे हैं। इससे आम यात्रियों को गर्मी में शुद्ध ठंडे पेय जल के लिए परेशानी भी हो रही है। आईआरसीटीसी के एक वरिष्ठ अधिकारी के अनुसार नोटिस संबंधी सूचना सिनियर डीसीएम को दे दी गई है।