पश्चिम रेलवे ने किया सर्वाधिक फर्टिलाइजर का लदान

  • 1.47 लाख टन माल का परिवहन
  • चलाई 599 पार्सल ट्रेनें

मुंबई. पश्चिम रेलवे माल यातायात के मामले में तेजी से नए कार्य कर रही है.फर्टिलाइजर लदान में पश्चिम रेलवे ने रिकार्ड बनाते हुए 10 अक्टूबर को एक दिन में 31 रेक के जरिए 1442 वैगन लदान किया,जबकि पिछले 6 अक्टूबर को भी 1426 वैगन का लदान हुआ.लॉकडाउन और अनलॉक में अब तक 17 हजार 660 से ज्यादा रेक लोड किया है.599 पार्सल ट्रेन से 1.47 लाख टन से ज्यादा जरूरी माल का परिवहन किया है.

सीपीआरओ सुमित ठाकुर ने बताया कि कोरोना के प्रतिकूल प्रभावों के बावजूद 37.34 मिलियन टन से अधिक जरूरी वस्तुओं का परिवहन पश्चिम रेलवे ने किया है.जिनमें कृषि उत्पाद, दवाइयां, मछली, दूध आदि मुख्य रूप से शामिल हैं.लॉकडाउन अवधि के दौरान मालगाड़ियों के कुल 17,600 रेकों का उपयोग आवश्यक वस्तुओं की आपूर्ति के लिए किया गया.447 कोविड विशेष पार्सल ट्रेनें चलाई गईं.पश्चिम रेलवे ने 105 मिल्क ट्रेनें चलाई है.

 2895 करोड़ का नुक़सान

कोरोना वायरस के कारण नियमित यात्री ट्रेनें न चलने से पश्चिम रेलवे पर कमाई का कुल नुकसान लगभग 2895 करोड़ रुपये रहा है.जिसमें उपनगरीय खंड का लिए लगभग 446 करोड़ रुपये और गैर-उपनगरीय क्षेत्र का लगभग 2449 करोड़ रुपये का नुकसान शामिल है.टिकटों के रिफंड में 444 करोड़ रुपये की अदायगी की है.अकेले मुंबई डिवीजन ने 215 करोड़ रुपये का रिफंड किया है.अब तक 69.10 लाख यात्रियों ने पश्चिम रेलवे पर अपने टिकट रद्द कर दिये हैं.