पश्चिम रेलवे ने चलाई 359 पार्सल ट्रेन

– 64 हजार टन माल का परिवहन

मुंबई. देशव्यापी लॉकडाउन में 3 महीने के दौरान पश्चिम रेलवे ने पार्सल विशेष ट्रेनों, मिल्क ट्रेनों, मालगाड़ियों से 64 हजार टन से ज्यादा माल का परिवहन किया है. जिसके अंतर्गत खाद्यान्न, दवा, पीपीई, मास्क, मछली दूध आदि जरूरी सामग्री देश भर में पार्सलों में भेजी जा रही है.

पश्चिम रेलवे के सीपीआरओ रविन्द्र भाकर के अनुसार इस दौरान 305-कोविड स्पेशल पार्सल ट्रेन चलाकर का 25 हजार टन से आवश्यक वस्तुओं की गई है,इसके अलावा 7309 रेक का उपयोग किया गया है.20.46 करोड़ से ज्यादा की आय हुई है.25 जून को पोरबंदर से शालीमार और करमबेली से गुवाहाटी के लिए पार्सल ट्रेन रवाना की गई,लॉकडाउन में पश्चिम रेलवे ने 48 मिल्क स्पेशल ट्रेन चलाई.

1457  करोड़ नुकसान

लॉकडाउन में नियमित यात्री ट्रेनें न चलने से पश्चिम रेलवे को 1457 करोड़ से ज्यादा का नुकसान हो चुका है.इनमें उपनगरीय सेक्शन को 210.43 करोड़ और गैर उपनगरीय सेक्शन को 1246.65 करोड़ का नुकसान हुआ है.पश्चिम रेलवे ने 363.72 करोड़ रुपये की रिफंड दिया है.अकेले मुंबई डिवीजन की 171.45 करोड़ रुपये की रिफंड राशि है.अब तक 55.72 लाख यात्रियों ने अपने टिकट रद्द किए हैं.