संविधान प्रस्तावना वाचन से होगी शीतकालीन अधिवेशन की शुरुआत

  • संविधान फाउंडेशन की तरफ से की गयी थी पहल

मुंबई. महाराष्ट्र विधान मंडल (Maharashtra Legislature) के शीतकालीन अधिवेशन (Winter session) की शुरुआत संविधान के प्रस्तावना वाचन से की जाएगी। सोमवार से शुरू हो रहे विधान मंडल अधिवेशन के  कार्यक्रम पत्रिका में संविधान के प्रस्तावना वाचन का प्रस्ताव दोनों सभागृह में रखा जाना है। इस संदर्भ में संविधान फाउंडेशन की तरफ से विधानसभा अध्यक्ष नाना पटोले, मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे एवं विधान परिषद सभापति को पत्र दिया गया था।

संविधान फाउंडेशन के अध्यक्ष एवं पूर्व आईएएस अधिकारी ई. जेड खोब्रागड़े का कहना है कि सभागृह में प्रस्ताव को मंजूरी ऐतिहासिक निर्णय होगा। राज्य में महाविकास आघाड़ी की सरकार गठित होने के बाद नागपुर में हुए शीतकालीन अधिवेशन में संविधान के प्रस्तावना का वाचन किया गया था। लेकिन बाद में यह परंपरा खंडित हो गयी, जिसको देखते हुए संविधान फाउंडेशन की तरफ से पहल की गयी। विषय के महत्व को समझते हुए कार्यक्रम पत्रिका में इसका उल्लेख किया गया है। जिसको लेकर संविधान फाउंडेशन की तरफ से विधान सभा अध्यक्ष, विधान परिषद के सभापति एवं मुख्यमंत्री के प्रति आभार व्यक्त किया गया है।