junior engineer hanged

मुंबई. कुर्ला में एक युवक ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली. वह कोरोना महामारी को फैलने से रोकने के लिए लगे लाॅकडाउन के कारण नौकरी चले जाने से परेशान था. उसने आत्महत्या से पहले अपने पिता को फोन किया था. कुर्ला पुलिस ने एक्सिडेंटल डेथ का मामला दर्ज किया है.

कुर्ला पुलिस स्टेशन का मामला

कुर्ला (प.) के अंजुमन इस्लाम स्कूल के पास 31वर्षीय पुरुषोत्तम गोरे पत्नी के साथ रहता था. वह प्राइवेट वाहन चलाता था. लाॅकडाउन के कारण उसकी नौकरी चली गयी. इससे वह जाने से परेशान था. परिवार का खर्च उसकी पत्नी के नौकरी करने से चल रहा था. शुक्रवार की रात को उसकी पत्नी काम पर चली गयी. वह घर पर अकेले ही था. उसने रात को अपने पिता को फोन किया और कहा कि मैं अब लौटकर नहीं आऊंगा. पुरुषोत्तम के पिता इस बात से परेशान हो गए कि बेटा इतनी रात को फोन कर क्यों ऐसा कहा ? जब वह दुबारा फोन करने लगे, तो उसने फोन नहीं उठाया. 

एक्सिडेंटल डेथ का मामला दर्ज 

अनहोनी की आशंका से रात 3 बजे पुरुषोत्तम के घर आए और दरवाजा खटखटाया. जब उसने दरवाजा नहीं खोला, तो उन्होंने पड़ोसियों की मदद से दरवाजा तोड़कर घर में प्रवेश किए. पुरुषोत्तम सिलिंग फैन से लटक रहा था. बेटे को इस हालत में देखकर पिता पर जैसे दुःखों का पहाड़ टूट गया.फांसी का फंदा काट कर पुरुषोत्तम को नीचे उतार भाभा अस्पताल ले जाया गया. जहां डाॅक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया. कुर्ला पुलिस ने पिता के बयान के आधार पर एक्सिडेंटल डेथ का मामला दर्ज किया है.