Corona Positive
PTI Photo

  • मरने वालों का आंकडा सतत बढ़ रहा

नागपुर. पिछले कुछ दिनों से 7000 से अधिक कोरोना के टेस्ट किये जा रहे थे. इसका नतीजा यह था कि 1500 से ज्यादा पाजिटिव मरीज आ रहे थे, लेकिन सोमवार को केवल 4455 टेस्ट किये गये. इनमें 1002 लोगों में संक्रमण की पुष्टि हुई. इसका मतलब साफ है कि जितनी अधिक टेस्टिंग होगी, मरीजों की संख्या भी उतनी ही अधिक बढ़ेगी. मरने वालों की संख्या कम नहीं हो रही है. 44 और मरीजों ने दम तोड़ दिया. इस तरह अब तक 1702 मरीज कोरोना की बलि चढ़ चुके हैं.

जो व्यक्ति समय पर उपचार करा रहा है, वह ठीक होकर घर जा रहा है, लेकिन देरी से भर्ती होने और साथ ही अन्य बीमारियों से ग्रसित मरीजों को ही परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है. सोमवार को 1518 मरीजों को ठीक होने के बाद छुट्टी दी गई. इस तरह अब तक कुल 40667 मरीज ठीक हो चुके हैं. इसके साथ ही जिले में अब रिकवरी रेट 76.05 पहुंच चुका है. हालांकि रिकवरी रेट धीरे-धीरे ऊपर चढ़ रहा है, लेकिन मरने वालों की संख्या पर नियंत्रण नहीं होने से दहशत अब भी बरकरार है.

एंटिजेन टेस्ट ज्यादा
सोमवार को जिले में कुल 4455 टेस्ट किये गये. इनमें 2154 एंटिजेन टेस्ट का समावेश रहा. पिछले सप्ताहभर टेस्ट की गति बढ़ा दी गई थी. रविवार को कुल 8459 टेस्ट किये गये थे, जिसमें 2343 लोगों में संक्रमण की पुष्टि हुई थी. रविवार की तुलना में सोमवार को आधे टेस्ट ही किये गये. यही वजह रही की संक्रमित मरीजों की संख्या भी आधी ही रही. इससे साफ हो गया है कि जितनी ज्यादा टेस्ट किये जाएगे, मरीजों की संख्या भी उतनी अधिक होगी. फिलहाल जिले में 11104 एक्टिस केस है. इनमें 6573 मरीज होम आयसोलेशन में रहकर इलाज करा रहे हैं.

मंगलवारी जोन में सर्वाधिक पाजिटिव
सिटी में मंगलवार जोन में सबसे अधिक पाजिटिव मरीज है. जोन में 106 पुरुष व 53 महिला सहित कुल 159 एक्टिव केस है. इसी तरह गांधीबाग जोन में 140, हनुमान नगर जोन में 128, धरमपेठ जोन 145 और लक्ष्मीनगर जोन में 135 एक्टिव केस है. सबसे कम मरीज सतरंजीपुरा जोन में है. फिलहाल जोन में केवल 22 एक्टिव केस है. जबकि मई और जून में सतरंजीपुरा जोन में सबसे अधिक पाजिटिव मरीज मिल रहे थे. क्षेत्र में अधिकांश लोगों की जांच किये जाने का ही नतीजा है कि अब मरीजों की संख्या धीरे-धीरे नियंत्रण में आती जा रही हैं.

53473 कुल संक्रमित

1702 की मौत

1002 सोमवार को पाजिटिव

11104 एक्टिव केस