Indian Railways returned Rs 1885 crore to passengers
File Photo

  • बढ़ी यात्रियों की हलचल

नागपुर. कोरोना संक्रमण काल के बीच दोबारा पटरी पर लौटने की कोशिश कर रही भारतीय रेलवे ने एक दिन पहले 80 और यात्री ट्रेनों का परिचालन शुरू किया. इसी के तहत 172 दिनों के बाद जीटी (ग्रांट ट्रंक) एक्सप्रेस रविवार को नागपुर स्टेशन पहुंची. चेन्नई से चलकर दिल्ली जाने वाले ट्रेन 0215 जीटी एक्सप्रेस अपने निर्धारित समय दोपहर 12.20 पर नागपुर स्टेशन पहुंची और 12.26 पर रवाना हो गई. ट्रेन में नागपुर से कुल 101 यात्री सवार हुए जबकि 21 यात्री यहां उतरे.

ज्ञात हो कि कोरोना संक्रमण के फैलाव को रोकने के लिए 25 मार्च से लागू देशव्यापी लाकडाउन के कारण सभी ट्रेनें भी बंद कर दी गई थी. हालांकि लाकडाउन के दौरान मालगाडी का परिचालन जारी रहा. करीब 2 महीनों के बाद अनलॉक प्रक्रिया के तहत 1 जून से रेलवे ने 230 यात्री ट्रेनें शुरू की. यात्री परिवहन बढ़ाने के दूसरे चरण में रेलवे ने 12 सितंबर से और 80 ट्रेनें चलाई. हालांकि सभी गाडियों को स्पेशल ट्रेन का टैग देकर चलाया जा रहा है. इनमें दिल्ली और चेन्नई के बीच चलने वाली जीटी एक्सप्रेस भी शामिल है.

पुरी-अहमदाबाद भी आई
जीटी एक्सप्रेस के अलावा रविवार को ट्रेन 02843 पुरी-अहमदाबाद भी अपने निर्धारित समय 14.35 बजे स्टेशन पहुंची. इस ट्रेन में नागपुर से 35 यात्री सवार हुए जबकि 41 यात्री उतरे. ज्ञात हो कि वर्तमान में उक्त ट्रेन को पुरी के बजाय खुर्दा रोड से परिचालित किया जा रहा है. यूं तो 12 सितंबर से देशभर में शुरू की गई 80 ट्रेनों में से अप और डाउन दिशाओं की कुल 12 ट्रेनें नागपुर होकर गुजरने वाली है. समझा जा रहा था कि रविवार से ही दोनों दिशाओं से ट्रेनों की आवाजाही शुरू हो जायेगी लेकिन अभी केवल रैक अपने मुख्य गंतव्य पर पहुंच रही है. ऐसे में सोमवार या मंगलवार से सभी स्पेशल ट्रेनें अपने निर्धारित समय से चलने लगेगी.

ऐतिहासिक है GT एक्सप्रेस
ज्ञात हो कि जीटी एक्सप्रेस देश में दौड़ रही सबसे पुरानी यात्री ट्रेनों में से एक है. 91 वर्षों से दौड़ रही जीटी एक्सप्रेस भावनात्मक तौर पर भी रेल यात्रियों से जुडी हुई है. इसे आजादी से भी पहले 1 अप्रैल 1929 को पेशावर (वर्तमान में पाकिस्तानी शहर) और मंगलौर के बीच शुरू किया गया था. उस दौर में जीटी एक्सप्रेस को मुख्य तौर पर पेशावर में तैनात रेजीमेंट के परिवारों को दक्षिण भारत में पहुंचाने के लिए शुरू किया गया था. आजादी के बाद भी ट्रेन की प्रतिष्ठ बनी रही. वर्तमान में जीटी एक्सप्रेस दिल्ली और चेन्नई के बीच कुल 2,185 किमी का सफर तय करती है. औसतन 61 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से चलते हुए जीटी एक्सप्रेस यह दूरी करीब 35 घंटे 15 मिनट में पूरी करती है.