husband posted private photos and videos on social media after dispute with wife, police arrested
File

  • क्राइम ब्रांच और साइबर सेल की कार्रवाई

नागपुर. वर्तमान में मोबाइल और सोशल मीडिया पर चलाई पोर्नोंग्राफी के मामले काफी बढ़ते जा रहे है. सोशल मीडिया पर बालकों के अश्लील वीडियो देखने और प्रसार करने का प्रमाण बढ़ता देख क्राइम ब्रांच और साइबर सेल ने कड़ी कार्रवाई करते हुए अब तक कुल 23 आरोपियों को गिरफ्तार किया है. रेप, गैंगरेप जैसे कन्टेंट संबंधित थानों में दर्ज शिकायतों के आधार पर पुलिस ने आरोपियों पर कड़ी कार्रवाई की. बालक लैंगिक अपराध संरक्षण कानून के तहत चाइल्ड पोर्नोग्राफी देखना और प्रसारित करना संगीन अपराध है.

बावजूद इसके कई बालक चाइल्ड पोर्नोग्राफी देखकर आपराधिक घटनाओं को अंजाम दे रहे है. इस प्रकार की गतिविधियों को नियंत्रित करने के लिए नेशनल सेन्टर फॉर मिसिंग एंड एक्सप्लोईटेड चिल्ड्रन और नेशनल क्राइम रिकॉर्ड ब्यूरो समेत साइबर सेल सोशल मीडिया पर बारीकी से नजर रखे हुए है. एडिशनल सीपी सुनील फलारी ने बालकों को पोर्न साईट नहीं देखने, सोशल मीडिया पर इस प्रकार के वीडियों शेयर नहीं करने की अपील की है. वाट्सएप ग्रुप में इस प्रकार के वीडियों पाए जाने पर एडमिन पर कड़ी कार्रवाई किए जाने की चेतावनी दी है.