CORONA
File Photo

नागपुर. सण्डे को कोरोना के संदर्भ में कुछ राहत मिली. पिछले कुछ दिनों से रोजाना ही 400 से अधिक पॉजिटिव मिल रहे थे लेकिन सण्डे को इसमें कुछ कमी आई. 287 नये पॉजिटिव मिले. कुल 5161 की टेस्ट रिपोर्ट आई जिसमें ये पॉजिटिव मिले हैं. इन्हें मिलाकर अब तक जिले में कुल पॉजिटिव की संख्या 1,11,477 हो गई है. वहीं कोरोना से ठीक होने वालों की संख्या 1,02, 872 है. रिकवरी रेट 92.26 प्रतिशत है. वहीं जिले में सण्डे को कुल एक्टिव केस 4,978 रहे जिसमें सिटी के 4,338 और जिले के ग्रामीण भागों के 640 मरीजों का समावेश है. बताया गया कि इसमें 1,335 का इलाज विविध अस्पतालों में चल रहा और 3,643 होम क्वारंटाइन हैं. मेडिकल में 210, मेयो मं 86, एम्स मं 37 मरीजों का उपचार चल रहा है. सण्डे को जो 287 पॉजिटिव पाए गए हैं उसमें 244 सिटी के हैं और 39 ग्रामीण भागों के, वहीं 4 जिले के बाहर के हैं.

9 की हुई फिर मौत

शनिवार को भी जिले के 9 लोगों की मौत कोरोना महामारी के चलते हुए थी, वहीं दूसरे दिन सण्डे को भी 9 लोग काल के गाल में समा गए. मरने वालों में 4 सिटी के, 4 जिले के बाहर के और 1 ग्रामीण भाग का है. इन मौतों को मिलाकर अब तक जिले में कोरोना से मरने वालों की संख्या 3,654 हो गई है. वहीं सण्डे को 363 लोग स्वस्थ भी हुए. स्वस्थ होने वालों में सिटी के 316 और ग्रामीण भागों के 47 का समावेश है. दिवाली के बाद से विविध लैब्स में कोरोना टेस्टिंग की संख्या बढ़ी है. रोजाना 5,000 से अधिक टेस्टिंग हो रही है. इसमें आरटी-पीसीआर ही लोग अधिक करवा रहे हैं. अब तक जिले में 4,45,425 आरटी-पीसीआर और 3,34,338 रैपिड एंटीजन टेस्ट हुए हैं. इस तरह कुल 7,79,763 कोरोना टेस्ट हुए हैं जिनमें कुल 1,11,477 की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है.

सतर्क रहने की अपील

हालांकि अब सिटी में लोगों की लाइफ रूटीन में आ चुकी है. बाजार पूरी तरह खुल चुके हैं. कोरोना का भय भी पहले की तरह नहीं रह गया है. जिम्मेदार लोग कोविड-19 के नियमों का पालन कर रहे हैं लेकिन कुछ गैरजिम्मेदार लोग भी हैं जो यह मान रहे हैं कि कोरोना अब खत्म हो गया है. ऐसे लोगों से डॉक्टर अपील कर रहे हैं कि अभी भी सतर्क रहने की जरूरत है. दिसंबर में जब सर्दी अपने पूरे शबाब पर होगी तो सर्दी-जुकाम-बुखार की शिकायतें बढ़ेंगी और उसी के साथ कोरोना का खतरा भी बढ़ सकता है. सिटी सहित जिले में कोरोना की दूसरी लहर को रोकने के लिए सतर्क रहने की बेहद जरूरत है.