Bullet
File Photo

नागपुर. फटफटी (बुलेट वाहन) की फट-फट आवाज से नागरिकों को हो रही दिक्कत को ध्यान में रखते हुए अब डीसीपी ट्राफिक विक्रम साडी ने विशेष अभियान शुरू कर दिया है. बुलेट चालकों के खिलाफ जारी विशेष मुहिम में गुरुवार को पुलिस ने अपनी गाड़ियों के साइलेंसर में परिवर्तन करने वाले 38 वाहन चालकों पर मोटर व्हीकल एक्ट के तहत चालान ठोका.

साथ ही कुल 1703 वाहन चालाकों पर कार्रवाई की गई. इसमें फेन्सी नंबर प्लेट के 36 और ब्लैक फिल्म लगाने वाले 119 वाहन चालकों का चालान काटकर जुर्माना वसूला गया. बुलेट की आवाज के कारण कई लोगों को परेशानी हो रही है. खास कर बस्तियों में बुलेट की जोरदार आवाज से लोगों की निंद उड गई है. पुलिस ने अन्य बुलेट चालकों को चेतावनी दी है कि यदि बाइक से मोडिफाइड साइलेंसर नहीं निकाला गया तो कड़ी कार्रवाई की जाएगी.

2 दिनों में 90 वाहनों पर लगाया जुर्माना
डीसीपी साडी ने बताया कि युवाओं में बुलेट गाड़ी को मोडीफाई करने का क्रेज काफी हद तक बढ गया है. सभी युवा वाहनों पर लगे कंपनी के साइलेंसर निकालकर तेज आवाज वाले फट-फट साइलेंसर लगा रहे हैं. साइलेंसर का मफलर निकालकर आवाज बढ़ाई जा रही है. इससे सड़क से गुरजने वाले बुजुर्गों और छोटे बच्चों को काफी दिक्कत होती है.

बगल से कोई गाड़ी निकले तो बच्चे डर जाते हैं. वाहन चालक इस बात का भी ध्यान नहीं रखते कि वे अस्पताल और साइलेंस जोन से जा रहे हैं. कुछ युवा तो जानबूझकर पटाखों की आवाज निकालते हुए रेसिंग लगाते हैं. इसीलिए इन पर लगाम कसना जरूरी है. सभी ट्राफिक जोन को बुलेट चालकों के खिलाफ विशेष अभियान चलाने के निर्देश दिए गए थे. पिछले 2 दिनों में पुलिस ने 90 बुलेट वाहनों पर कार्रवाई की. वाहन चालकों को तुरंत अपनी गाड़ियों से मोडिफाइड साइलेंसर निकालने को कहा गया है.