एमडी ड्रग्स के साथ धरे गए 4 युवक

  • बैंक की नौकरी जाने के बाद शुरु की तस्करी

नागपुर. क्राइम ब्रांच की एनडीपीएस सेल को शहर में एमडी ड्रग्स बेचने वाली नई गैंग को पकड़ने में सफलता मिली. ठाणे के भिवंडी का एक युवक शहर के युवाओं को एमडी सप्लाई कर रहा था. बैंक की नौकरी जाने के बाद उसने एमडी तस्करी का काम शुरु किया. इसकी जानकारी मिलते ही एनडीपीएस सेल ने जाल बिछाकर चारों युवकों को गिरफ्तार किया.

पकड़े गए आरोपियों में चांदनी चौक, हसनबाग निवासी मोहम्मद कफिल मोहम्मद अयूब (24), हसनबाग निवासी मोहम्मद इस्तियाक मोहम्मद अशफाक अंसारी (27), टेकानाका निवासी सोहेल पटेल मजहर मटेल (22) और नायगांव पाड़ा, भिवंडी निवासी मोहम्मद दानिश खालिद अंसारी (26) का समावेश है.

पुलिस को जानकारी मिली थी कि कफिल और इस्तियाक पिछले कुछ समय से शहर में एमडी बेच रहे है, लेकिन दोनों पुलिस के हाथ नहीं लग रहे थे. रविवार को पुलिस को जानकारी मिली कि ठाणे से एक युवक एमडी लेकर नागपुर आया है. वह कफिल को माल सप्लाई करता है. कामठी रोड पर भारत पेट्रोल पंप के पास पुलिस ने जाल बिछाकर कफिल, सोहेल और इस्तियाक को गिरफ्तार किया.

34 ग्राम ड्रग्स जब्त

उनके पास से 34 ग्राम 33 मिली ग्राम एमडी बरामद हुई. माल के बारे में पूछताछ करने पर दानिश का नाम सामने आया. मोमिनपुरा की जामा मस्जिद के सामने पुलिस ने दानिश को गिरफ्तार किया. शनिवार को दानिश भुवनेश्वर एक्सप्रेस ट्रेन से माल लेकर नागपुर आया था. आधा माल कफिल को दिया. बाकी माल के बारे में पूछताछ करने पर मनघड़ंत कहानी बनाने लगा. शनिवार को पुलिस की जांच के दौरान उसने बाकी माल फेंकने की जानकारी दी. चारों आरोपियों को सोमवार को न्यायालय में पेश किया गया.

अदालत ने उन्हें 3 दिन की पुलिस हिरासत मंजूर की है. डीआईजी सुनील फुलारी और डीसीपी गजानन राजमाने के मार्गदर्शन में इंस्पेक्टर सार्थक नेहेते, पीएसआई देवीदास बांगड़े, हेड कांस्टेबल प्रदीप पवार, कांस्टेबल नामदेव टेकाम, विनोद गायकवाड़, नितिन मिश्रा, कपिलकुमार तांडेकर, अश्विन मांगे, राहुल गुमगांवकर, समीर शेख, नितिन सालुंखे, राहुल पाटिल, रुबिना शेख और पूनम रामटेके ने कार्रवाई को अंजाम दिया.