File Photo
File Photo

  • देश के कई हिस्सों से लाए जा रहे मवेशी

देवलापार. देश के कई हिस्सों से गोवंश और अन्य मवेशियों को नागपुर व कामठी के कत्लखानों में अवैध रूप से लाने का सिलसिला धड़ल्ले से जारी है. बीते सोमवार को देवलापार और मौदा की पुलिस ने अपने क्षेत्र में गोवंश तस्करी की बड़ी खेपें पकड़ीं. देवलापार पुलिस ने सोमवार को तड़के 5 बजे राष्ट्रीय महामार्ग क्रमांक 44 पर एमपी बार्डर के पास मानेगांव टेक में नाकेबंदी की. यहां पर मध्यप्रदेश की ओर से संदिग्ध ट्रक क्र. आर.जे.14 जी.ई. 9637 आ रहा था.

पुलिस टीम द्वारा संकेत देने पर चालक ने ट्रक को और तेज कर दिया तथा बैरिकेट तोड़कर आगे निकल गया. पुलिस टीम ने इस ट्रक का पीछा करना शुरू किया तथा करीब चार किमी दूर जाकर सावधानी से रुकवाया. ट्रक की जांच करने पर इसमें तीस बैलों को ठूंसकर भरा गया था. निर्दयता के साथ बैलों को सींग और पैरों से कसा गया था. ट्रक में आरोपी चालक सद्दाम हुसैन मिसरी खान (25) और हामिद जीवा बंजारा (36) दोनों इस्लामपुरा राजस्थान निवासी राजस्थान से गोवंश की खेप लेकर कामठी के कत्लखाने में जा रहे थे. इस कार्रवाई में एपीआई प्रवीण बोरकुटे के मार्गदर्शन में पीएसआई केशव पुंजरवाड़, सिपाही मुन्ना पांडे, कुलदीप आहके, रमेश खरकटे, गजानन जाधव शामिल थे.

ट्रक में ठूंसे 31 गाय-बैल
मौदा थाना पुलिस ने रायपुर- नागपुर हाईवे पर माथनी टोल नाके के पास नाकेबंदी कर गोवंश तस्करों को पकड़कर 31 गाय- बैलों की जान बचाई. मौदा पुलिस ने सूचना के आधार पर बीते रविवार-सोमवार की मध्यरात्रि टोल नाके के पास नाकेबंदी की. यहां पर तड़के 1.40 बजे संदिग्ध ट्रक क्रमांक एमएच 35/ एजे 1252 पहुंचा. ट्रक का चालक कासिम उर्फ वसीम जुम्मन शेख (36), मनीष गौरीशंकर सराटे (20) और भोलेशंकर फुलीचंद सराटे (40) गोंदिया के ग्रामीण इलाके से एकत्र किए गए गोवंश की खेप लेकर नागपुर और कामठी के कत्लखानों में गोवंश लेकर जा रहे थे. गोवंश में 14 गायें और 17 बैल शामिल थे. इन्हें अत्यंत क्रूरता के साथ कसकर ट्रक में भरा गया था. पुलिस ने गोवंश और ट्रक समेत कुल 13.95 लाख रुपए का माल जब्त किया.