Corona Death
File Photo

  • कभी कम तो कभी बढ़ता है आंकड़ा

नागपुर. दिवाली के बाद से सिटी सहित पूरे जिले में कोरोना से मरने वालों और दैनिक पॉजिटिव का आंकड़ा कभी कम होता है तो कभी बढ़ जाता है. गुरुवार को जिले में फिर 9 कोरोना संक्रमितों की मौत हो गई. इन मौतों को मिलाकर अब तक जिले में कुल 3,825 की मौत कोरोना से हो गई है.

गुरुवार को जो 9 कोरोना की बलि चढ़े उनमें 4 सिटी के, 1 ग्रामीण भाग का और 4 जिले के बाहर के हैं. अब तक सिटी के 2,603 की मौत कोरोना से हो चुकी है और रोज ही यह आंकड़ा बढ़ता जा रहा है. वहीं जिले के ग्रामीण भागों में भी अब तक मरने वालों का आंकड़ा 663 तक पहुंच चुका है.

जिले के बाहर के 559 मरीजों की मौत सिटी के विविध अस्पतालों में उपचार के दौरान हुई है. दरअसल कोरोना अनलॉक के बाद से लोगों ने सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करना लगभग छोड़ ही दिया है. ग्रामीण व शहरी भागों में बड़े पैमाने पर शादियां हो रही हैं जिसमें बड़ी संख्या में लोग जुटने लगे हैं. इससे भी कोरोना संक्रमण पर नियंत्रण तेजी से नहीं हो पा रहा है.

430 मिले नये पॉजिटिव

गुरुवार को फिर जिले में 430 नये कोरोना पॉजिटिव मिले हैं. इनमें 347 तो सिटी के ही हैं और 79 ग्रामीण भागों के हैं. वहीं 4 जिले के बाहर के हैं. इन नये पॉजिटिव को मिलाकर अब जिले में कुल संक्रमितों संख्या 1,18,777 हो गई है. इसमें 94,027 सिटी के और 24,009 ग्रामीण भागों के और 741 जिले के बाहर के हैं. डॉक्टर व स्थानीय प्रशासन द्वारा अभी भी लोगों से कोविड-19 के दिशानिर्देशों का पालन करने की अपील कर रहे हैं. सिटी में व ग्रामीण भागों में भी मास्क नहीं लगाने वालों पर दंडात्मक कार्रवाई लगातार जारी है लेकिन फिर भी असर नहीं हो रहा है. सोशल डिस्टेंसिंग नहीं रखने वालों के खिलाफ अब कार्रवाई होनी चाहिए. 

91.81 है रिकवरी रेट

हालांकि कोरोना संक्रमितों के स्वस्थ होने का प्रतिशत भी उल्लेखनीय है, लेकिन यह दिवाली के कुछ दिन पूर्व तक 93 फीसदी तक पहुंच गया था. अब रिकवरी रेट 91.81 फीसदी है. गुरुवार को भी 493 मरीज स्वस्थ होकर अपने घर लौटे हैं. इसमें 401 सिटी के और 92 ग्रामीण भागों से हैं. इन्हें मिलाकर अब कोरोना को मात देने वालों की कुल संख्या 1,09,048 हो गई है. वहीं 5,904 एक्टिव केस हैं जिनमें 5,015 सिटी के और 889 ग्रामीण भागों से हैं. इनमें भी 4,507 होम क्वारंटाइन हैं और 1,397 का विविध अस्पतालों में उपचार जारी है.